Agra: पिता का अधूरा सपना पूरा करने के लिए तमाम बाधाओं को पार कर बेटी बनी सेना में लेफ्टिनेंट

0
17


हरिकांत शर्मा

आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा के दयालबाग तक्षशिला कॉलोनी निवासी धर्मेंद्र सिंह का सपना था कि वो आर्मी में जाकर देश की सेवा करें. उन्हें तीन बार प्रयास किया, लेकिन असफलता ही हाथ लगी. उनके मन में इस बात की हमेशा टीस रहती थी. बाद में उन्होंने सोचा कि वो अपने बेटे को आर्मी में भेजेंगे, लेकिन किस्मत ने यहां भी धर्मेंद्र सिंह का साथ नहीं दिया. उनके घर में पहली संतान के रूप में बेटी ने जन्म लिया. तब धर्मेंद्र ने अपनी बेटी मानसी को ही बेटा मानकर उसे आर्मी में जाने के लिए प्रेरित किया.

मानसी ने पिता से प्रेरित होकर हर हाल में सैन्य अफसर बनने की ठानी. वो तमाम बाधाओं को पार कर दूसरी बार में एसएसबी परीक्षा टॉप कर सेना में लेफ्टिनेंट बन कर आगरा लौटी हैं. धर्मेंद्र सिंह की बेटी ने उनका बरसों पुराना सपना पूरा कर सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है.

पिता के सपने की खातिर बेटी ने की जबरदस्त मेहनत
मानसी चेन्नई ऑफिसर्स ट्रेनिंग सेंटर से लेफ्टिनेंट की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद आगरा पहुंची हैं. जहां उनका जोरदार स्वागत किया गया. मानसी के पिता धर्मेंद्र सिंह एक पेंट कंपनी में नौकरी करते हैं, और उनकी मां प्रेरणा सिंह का खुद का व्यवसाय है. मानसी बताती हैं कि उनका बचपन से ही यह सपना था कि जो उनके पिता नहीं कर पाए, उसे वो वह खुद करेंगी.

10वीं और 12वीं कक्षा की टॉपर रहीं मानसी खेलकूद और गायन में भी रुचि रखती हैं. उन्होंने दयालबाग कॉलेज से B.tec करने के साथ-साथ आर्मी में जाने की तैयारी भी की. उन्होंने दिन-रात कड़ी मेहनत के बाद यह सफलता हासिल की है.

सोशल मीडिया को सिर्फ पढ़ाई के लिए करें इस्तेमाल
मानसी बताती हैं कि बहुत से युवा इन दिनों सोशल मीडिया पर अपना समय बिताते हैं. सोशल मीडिया आज लोगों के बीच अहम जगह बना चुकी है, लोगों को सिर्फ पढ़ाई के लिए इसका उपयोग करना चाहिए.

आर्मी से आता है जीवन में अनुशासन
मानसी मानती हैं कि आर्मी का मतलब अनुशासन है. उनके कंधों पर सितारों का मतलब जिम्मेदारी है. समाज में आर्मी की जगह बेहद खास है. उन्हें देश की सेवा करने का जो मौका मिला है उसे वो पूरी मेहनत और शिद्दत के साथ पूरा करेंगी. उन्होंने बताया कि आर्मी की ट्रेनिंग बेहद कठिन होती है. इसके लिए आपको दिमागी और शारीरिक तौर पर मजबूत होने की जरूरत पड़ती है. जो लोग इसकी तैयारी कर रहे हैं अगर वो पूरे मन से शारीरिक और मानसिक रूप से तैयारी करेंगे तो कामयाबी जरूर मिलेगी.

Tags: Agra news, Indian army, Up news in hindi



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here