AMU कैंपस में खड़े लावारिस वाहनों की हो जांच, बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने एसएसपी को लिखा पत्र

0
10


हाइलाइट्स

बीजेपी सांसद ने अपने पत्र में वाहनों की जांच और उन्हें डिस्पोज ऑफ करने की मांग की है
पत्र में सांसद सतीश गौतम ने लावारिश वाहनों को लेकर गंभीर सवाल उठाए हैं

अलीगढ़.अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी कैंपस में खड़े लावारिस वाहनों को लेकर बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने एसएसपी को पत्र लिखा है. बीजेपी सांसद ने अपने पत्र में वाहनों की जांच और उन्हें डिस्पोज ऑफ करने की मांग की है. सांसद ने पत्र में खड़े लावारिस वाहनों को लेकर गंभीर आरोप भी लगाए हैं, जिसके बाद से ही पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

अलीगढ़ बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने पत्र में कहा है कि एएमयू कैंपस में सैकड़ों खड़े लावारिस दोपहिया वाहनों की हो जांच होनी चाहिए. उन्होंने आशंका जाहिर की है कि शहर में होने वाले अपराध में भी इन वाहनों का प्रयोग हो सकता है. उन्होंने सवाल उठाया कि इन लावारिस वाहनों को AMU ने पुलिस को अब तक क्यों सुपुर्द नहीं किया? सांसद ने कहा है कि एएमयू छात्रों का अपराधिक गतिविधियों से पुराना नाता रहा है, ऐसे में 15 दिन के अंदर एसएसपी कलानिधि नैथानी कार्रवाई कर उन्हें अवगत कराएं.

सांसद ने उठाए गंभीर सवाल

आपके शहर से (अलीगढ़)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

पत्र में सांसद सतीश गौतम ने कहा है कि एएमयू कैंपस के प्रॉक्टर ऑफिस में खड़े सैकड़ों लावारिस वाहन किसके हैं, और क्यों खड़े हुए हैं, अभी तक इन वाहनों को एएमयू ने पुलिस के सुपुर्द क्यों नहीं किया है? शहर में होने वाले तमाम अपराधों में भी इन वाहनों का हुआ प्रयोग होगा. आगे सांसद ने कहा है कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों का अपराधिक गतिविधियों से पुराना नाता है. एएमयू कैंपस में कई बार छात्रों द्वारा गोलियां भी चलाई गई है. ऐसे में आखिर तमंचे और कारतूस कहां से आते हैं. पत्र में सांसद ने कहा है कि जैसा कि मुझे अज्ञात सूत्रों से पता चला है कि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर ऑफिस के प्रांगण में सैकड़ों की संख्या में दोपहिया वाहन पिछले कई वर्षों से खड़े हैं. इन लावारिस वाहनों की मेरे पास वीडियो फुटेज भी उपलब्ध है. यह सभी दोपहिया वाहन एएमयू प्रशासन ने क्यों खड़े कर रखे हैं? अगर इन वाहनों का कोई मालिक है तो क्यों नहीं दिए गए. एएमयू के वहान है तो क्यों नहीं नीलाम किए गए? सांसद ने अपने पत्र में कहा है कि एसएसपी कलानिधि नैथानी कार्यवाही करने के बाद 15 दिन के अंदर उन्हें अवगत कराएं.

AMU प्रशासन ने कही ये बात

सांसद सतीश गौतम के पत्र के बाद अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर वसीम अली खान का बयान भी सामने आ गया है. उन्होंने कहा है कि एएमयू कैंपस के अलग-अलग इलाकों से हम लोगों को खबर मिली कि कुछ गाड़ियां खड़ी हैं. जिन गाड़ियों का कोई भी मालिक नहीं है. कुछ मामलात हुए हैं, जिसके बाद लोग गाड़ियां छोड़कर भाग गए हैं. इन तमाम गाड़ियों को हमने अपनी कस्टडी में रख रखा है. इन गाड़ियों को लेकर हमने एक लेटर पुलिस को भी लिखा है. पुलिस के हिसाब से आगे की जो प्रक्रिया अपनाई जाएगी.

Tags: Aligarh Muslim University, Aligarh news, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here