Ayodhya: राम मंदिर की शोभा बढ़ाएगी भगवान के जन्म से राज्याभिषेक तक की झांकी

0
23


रिपोर्ट – सर्वेश श्रीवास्तव

अयोध्या. सरयू तट पर बसी भगवान राम की पावन नगरी अयोध्या भगवान के जन्म स्थान के नाम से पूरे विश्व में विख्यात है. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अयोध्या में भव्य मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है. मंदिर में भगवान राम के जीवन पर आधारित विभिन्न प्रसंगों की झांकियां भी सजाई जा रही हैं. राम जन्मभूमि परिसर में इसके लिए रामकथा कुंज का निर्माण किया जाएगा. इसमें भगवान राम के जीवन पर आधारित प्रसंगों को मूर्तियों के जरिए दिखाया जाएगा.

अयोध्या में रामलला का दर्शन करने आने वाले भक्तों को इस रामकथा कुंज में भगवान राम के जन्म से लेकर शिक्षा-दीक्षा, राज्याभिषेक और फिर गुप्तार घाट पर गुप्त होने तक का सफर मूर्तियों के जरिए दिखाया जाएगा. राम जन्मभूमि परिसर में इसकी झांकी लगाई जाएगी. परिसर में रामकथा कुंज आकर्षण का केंद्र होगा. कुंज में भगवान राम के जीवन प्रसंगों पर आधारित 100 मूर्तियों का रंग रोगन किया जा रहा है. इसमें 40 मूर्तियां भगवान की जीवन के विभिन्न प्रसंग को लेकर बनकर तैयार हो गई हैं.

विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि मंदिर का निर्माण कार्य तेजी के साथ किया जा रहा है. भगवान राम के जीवन चरित्र के बारे में श्रद्धालुओं को आसानी से अवगत कराया जा सके उसके लिए भगवान के जीवन चरित्र पर आधारित झांकियां बनाई जा रही हैं. भगवान के जन्म से लेकर लंका कांड और उसके उपरांत राम राज्याभिषेक तक के प्रसंग राम कथा कुंज में मूर्तियों के माध्यम से प्रदर्शित किए जाएंगे. मूर्तियों का निर्माण विगत कई वर्षों से किया जा रहा है. इसकी प्रेरणा स्वर्गीय अशोक सिंघल के द्वारा दी गई थी.

क्या कहते हैं मूर्तिकार

मूर्ति कलाकार नारायण चंद्र मंडल ने बताया कि राम मंदिर परिसर में रामकथा कुंज में भगवान राम के जीवन लीलाओं के प्रसंग पर आधारित मूर्तियों को लगाया जाएगा. पुत्रेष्टि यज्ञ से मूर्तियों के निर्माण की शुरुआत हुई है. भगवान के जन्म से लेकर राम राज्याभिषेक तक के प्रसंग बनाए जाने हैं. कलाकार नरायन चंद्र मंडल के अनुसार विश्व हिंदू परिषद के संस्थापक अशोक सिंघल की प्रेरणा के अनुसार मूर्तियां बनाई जा रही हैं. मूर्ति निर्माण कार्य में लगे कलाकार ने बताया कि सरिया, सीमेंट, मिट्टी और गिट्टी से मूर्तियां बनाई जा रही हैं. एक प्रसंग को तैयार करने में लगभग 3 से 4 महीने का समय लगता है.

Tags: Ayodhya Mandir, Lord Ram, Ram Janmabhoomi Mandir



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here