Ayodhya: श्रीराम अस्पताल को ढाई साल से अल्ट्रासाउंड मशीन चलाने वाले डॉक्‍टर की तलाश, ढीली हो रही मरीजों की जेब

0
20


रिपोर्ट- सर्वेश श्रीवास्तव

अयोध्या. विश्व विख्यात अयोध्या नगरी को उसकी गरिमा के अनुरूप ही विकसित किया जा रहा है. यही नहीं, केंद्र की कोई योजना हो या फिर प्रदेश सरकार की, सभी धरातल पर दिखाई दे रही है. लेकिन स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर जिला आज भी काफी पीछे चल रहा है. हालांकि प्रदेश के डिप्टी सीएम बृजेश पाठक (Deputy CM Brijesh Pathak) प्रदेश के अस्पतालों की स्थिति सुधारने में लगे हैं. वहीं सरकार के कुछ नुमाइंदे सरकार को बदनाम करने से नहीं चूक रहे हैं.

अयोध्या में स्थित श्री राम अस्पताल में अयोध्या समेत आसपास के जिलों के लोग अपना चेकअप कराने हजारों की संख्या में पहुंचते हैं, लेकिन अस्पताल में अल्ट्रासाउंड (Ultrasound) की सुविधा ना होने के कारण मरीज प्राइवेट सेंटर पर अल्ट्रासाउंड कराने को मजबूर हैं.

ढाई साल से बंद पड़ी है अल्ट्रासाउंड मशीन
करीब ढाई साल से बंद पड़ी अल्ट्रासाउंड मशीन को चलाने के लिए अभी तक श्री राम अस्पताल में कोई डॉक्टर नियुक्त नहीं हुआ है. रोजाना 70 से 80 मरीज अल्ट्रासाउंड के अभाव में अपना चेकअप नहीं करा पाते हैं. ऐसे में अस्पताल आने वाले मरीजों को प्राइवेट सेंटर पर अल्ट्रासाउंड कराना पड़ता है, जहां लगभग 800 रुपये देने पड़ते हैं. ऐसे में अगर श्रीराम अस्पताल में अल्ट्रासाउंड की सुविधा होती, तो मरीजों को 65 रुपये की एक रसीद कटवानी पड़ती, उसके बाद आसानी से अल्ट्रासाउंड हो जाता. यही नहीं, उच्च अधिकारियों को सूचित करने के बावजूद इस तरह की स्थिति श्रीराम अस्पताल में बरकरार है.

जानिए क्या कहा मरीजों ने
चेकअप कराने श्री राम अस्पताल में पहुंचे कीर्तिमान बताते हैं कि श्री राम अस्पताल में अल्ट्रासाउंड की मशीन बंद होने के कारण गरीबों को बीमारी के साथ-साथ आर्थिक मार भी सहनी पड़ती है. वहीं स्थानीय अमन गुप्ता का कहना है कि इतना बड़ा और आधुनिक श्री राम अस्पताल सिर्फ अच्छे डॉक्टरों और अच्छी व्यवस्थाओं का इंतजार कर रहा है.

प्रशासन को कई बार दी जा चुकी है सूचना
बहरहाल इस पूरे मामले पर श्री राम अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी वाईपी सिंह बताते हैं कि ढाई साल पहले डॉक्टर का ट्रांसफर हो गया. उसके बाद प्रशासन के आला अधिकारियों को सूचित करने के बावजूद भी यहां नई तैनाती नहीं की गई है.

Tags: Ayodhya News, UP government hospital



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here