Badra returned, smile came on the face of farmers, know how will be the weather of MP?– News18 Hindi

0
30


भोपाल. मध्य प्रदेश में बारिश (Rain) का दौर एक बार फिर लौट आया है. बीते मंगलवार को प्रदेश के कई इलाकों में अच्छी बारिश हुई. मौसम विभाग की मानें तो बारिश का यह सिलसिला अब इसी तरीके से आगे जारी रहेगा. प्रदेश में मानसूनी गतिविधियां बढ़ने की वजह बीते एक पखवाड़े से अधिक समय से बंगाल की खाड़ी में थमी हलचल का शुरू हो जाना है. आने वाली 23 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने जा रहा है, जिससे प्रदेश में और अच्छी बारिश होगी. खास तौर से पूर्वी इलाके में बारिश की संभावना ज्यादा बताई गई है. बाकी प्रदेश में मौसम का क्या हाल होगा यह उसके बाद साफ हो पाएगा, लेकिन बारिश होना तय माना जा रहा है.

ऐसे होगी बारिश

मौसम विभाग की ओर से एक दिन पहले ही प्रदेश के 11 जिलों में तेज बारिश की संभावना जताई गयी थी. जिन जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई गई थी, उनमें बारिश की वजह दो सिस्टम बताए गए. एक सिस्टम तो नॉर्थ साउथ ट्रफ लाइन सेंट्रल एमपी से तमिलनाडु के दक्षिणी हिस्से तक गुजर रही है, जिस वजह से भी बारिश की संभावना है. वहीं बंगाल की खाड़ी में भी अगले 2 दिनों में एक सिस्टम बनने की संभावना है जिस वजह से भारी बारिश हो सकती है.

खेती पर असर

बारिश ना होने की वजह से खेती पर अच्छा खासा असर पड़ा है। मध्यप्रदेश में सीजन में अब तक 31 जिलों में सामान्य से कम बारिश हुई है. इस वजह से प्रदेश में धान समेत कई और फसलों की खेती पर असर पड़ा है. धान की 50 फ़ीसदी दोगुनी अटक गई है सोयाबीन की फसल को भी नुकसान पहुंचा है, अगर बारिश नहीं होती तो फिर खेती को होने वाला नुकसान और बढ़ सकता और सूखे के हालात भी बन सकते है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here