Barabanki: एक ऐसा मंदिर जहां रात के समय नहीं जाते भक्त, जानिए क्या है ऐसा?

0
9


संजय यादव/बाराबंकी. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे जिले बाराबंकी में भी कई दुर्गा मंदिर हैं. इन मंदिरों की अपनी-अपनी अलग-अलग कहानी भी है. आज आपको एक ऐसे ही अद्भुत दुर्गा मंदिर की कहानी से रूबरू कराते हैं. जिसे सैलानी माता मंदिर के नाम से जाना जाता है. यहां माता के दर्शन के लिए हजारों भक्त आते हैं. इस मंदिर की ऐसी विशेषता है कि यहां दर्शन करने आए भक्त अगर यहां स्थित अभयारण्य में स्नान करके पूजा- अर्चना करते हैं. तो उन की सभी मनोकामनाए माता जरूर पूरी करती हैं. ऐसा कहा जाता है कि यहां प्रतिदिन रात्रि में माता सिंह की सवारी करके आती हैं. इसलिये मंदिर परिसर या उसके आसपास रात के समय कोई नहीं रुक सकता.

बाराबंकी के सतरिख थाना क्षेत्र में माता सैलानी देवी का मंदिर स्थित है. मान्यता है कि भक्त यहां पूरी श्रद्धा और आस्था के साथ में पूजा करते हैं और मन्नत मांगते हैं. उनकी सभी मन्नतें पूर्ण होती है. माता सैलानी देवी के मंदिर में जिले के कोने-कोने से तो भक्त आते ही हैं. साथ ही दूसरे जिलों और प्रदेशों से भी हजारों की संख्या में भक्त यहां पर आते हैं. नवरात्रि के अलावा प्रत्योक सोमवार और शुक्रवार के साथ हर महीने की पूर्णिमा को भी भक्त यहां दूर-दूर से आते हैं और विधिवत हवन पूजन के साथ में माता के मंदिर में पूजा अर्चना करते हैं.

भक्तों की मनोकामना होती है पूरी
मंदिर के पुजारी वासुदेव दास के मुताबिक जो भक्त सच्चे मन से यहां माता की विधिवत पूजा अर्चना करता है और अपनी मनोकामना मांगता है. माता उसकी मनोकामना जरूर पूर्ण करती हैं. भक्त यहां अपनी मन्नत मांगने के लिये चुनर और धागे से गांठ भी लगाते हैं. श्रृद्धालुओं के मुताबिक जिन भक्तों की मनोकामना पूरी होती है. वह यहां घंटा, प्रसाद आदि चढ़ाकर पूरे विधि-विधान से पूजा करते हैं. भक्त यहां अपने बच्चों का मुंडन संस्कार भी करते हैं. महिलाएं भी पिन्नी, दुरदरइया समेत कई विशेष पूजा करती हैं.

अभयारण्य से पानी नहीं जाता नीचे
माता सैलानी देवी मंदिर परिसर में एक अभयारण्य भी है. मान्यता है कि यहां पर भक्त पहले स्नान करते हैं फिर मंदिर में दर्शन कर पूजा-अर्चना करते हैं. इस अभयारण्य की खासियत है कि यहां का पानी कभी नीचे नहीं जाता और पानी लगातार निकलता रहता है. मान्यता के अनुसार जैसे-जैसे भक्तों की संख्या बढ़ती है, वैसे-वैसे इस अभयारण्य का पानी ऊपर आता जाता है. इस अभयारण्य का जल मंदिर के पास से ही गुजरी गोमती नदी में जाकर मिलता है. इस अभयारण्य में रंग बिरंगी मछलियां तैरती हुई नजर आती हैं.

Tags: Barabanki News, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here