Bareilly: अयोध्या जैसी धर्मनगरी के रूप में तैयार हो रही बरेली, जानिए क्या-क्या होगा

0
16


रिपोर्ट- अंश कुमार माथुर

बरेली: राम नगरी अयोध्या में ही नहीं बल्कि अब नाथ नगरी बरेली में भी भगवान श्री राम की छत्र छाया नजर आएगी. आपको बता दें कि बरेली विकास प्राधिकरण के द्वारा भगवान श्री राम जी के साथ लक्ष्मण जी, भरत जी और हनुमान जी की मूर्तियों वाले प्रवेश द्वार बरेली के चारों एंट्रेंस पॉइंट पर तैयार किए जा रहे है. इसको बरेली में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम और भारतीय संस्कृति से भावी पीढ़ी को अवगत कराने की कोशिश कहा जा रहा है. वहीं दूसरी तरफ यहां रामायण वाटिका भी बरेली विकास प्राधिकरण के द्वारा विकसित की जा रही है. इसमें भगवान विष्णु के 10 अवतार के दर्शन होंगे. वहीं औषधीय पेड़ पौधों को भी इसमें लगाया जाएगा.

बीडीए रामगंगा नगर में ग्रीन रामायण वाटिका को विकसित कर रहा है. 22.8 करोड़ की लागत से 33 हजार वर्ग मीटर क्षेत्रफल में भव्य रामायण वाटिका बन रही है. इस ग्रीन रामायण वाटिका में चित्रकूट, दंडकारण्य, शबरी आश्रम, किष्किंधा, पंचवटी, अशोक वाटिका, पंपा सरोवर की संकल्पना को साकार करने की कोशिश है. इसके अतिरिक्त दुर्लभ वृक्षों वनस्पतियों और पौधों के साथ पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा देने का प्रयास माना जा रहा है.

रामायण वाटिका में औषधीय पेड़ पौधों होंगे संरक्षित
ग्रीन रामायण वाटिका में प्रवेश द्वार के बाद सबसे पहले भगवान श्रीराम, लक्ष्मण जी, सीता जी और हनुमान जी के जीवन पर आधारित दृश्यों और संस्मरण को दीवारों पर दर्शाया जाएगा. इसके अलावा यहां औषधीय पौधे जैसे आम, ब्रह्मी, बांस, नीम, दंडकारण्य में अर्जुन, असना, सागौन, बकली महुआ, बेल, साल, पीपल, अशोक, बरगद, रक्त चंदन, कैथा चंदन, आंवला, ढाक, नाग केसर, मौल सिरी, मृथ संजीवनी, चंपा के पौधे लगाए जाएंगे. वही बच्चों के खेलने के लिए पार्क और मनोरंजन के लिए ओपन थिएटर, हाईटेक क्लॉक टावर का भी निर्माण किया जाएगा.

बरेली में धर्म नगरी जैसा होगा नजारा
बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष जोगिंदर सिंह ने बताया किबरेली में अब प्रवेश करने के चारों दिशाओं में भव्य प्रवेश द्वार बनाए जा रहे हैं. जिसमें इन्वर्टिस क्रॉसिंग के पास राम द्वार, झुमका चौराहे पर लक्ष्मण द्वार, बदायूं रोड पर जूए की पुलिया के पास भरत द्वार और बीसलपुर रोड पर हनुमान द्वार का निर्माण चल रहा है. इसके साथ ही बरेली में पर्यटन स्थल के रूप में भव्य रामायण वाटिका बीडीए द्वारा रामगंगा नगर में विकसित की जा रही है.

2023 तक बनकर तैयार होने की उम्मीद
बरेली में पर्यटन एवं यातायात की व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए बरेली आने वाले सभी मार्गों को फोरलेन और सिक्स लेन की चौड़ी सड़कों में तब्दील किया जा रहा है. पेड़ पौधों से सुसज्जित डिवाइडर, पोडियम लाइट लगाने का काम भी तेज गति से चल रहा है जो जुलाई 2023 तक बनकर तैयार होने की उम्मीद है.

Tags: Bareilly Big News, Bareilly hindi news, Up news in hindi



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here