Bareilly News: बरेली में बंदरों के हमले से लोग भयभीत! जिला प्रशासन ने उठाया बड़ा कदम

0
18


रिपोर्ट – अंश कुमार माथुर

बरेली. बरेली जिले में बंदरों का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है. गुरुवार को शाही क्षेत्र के दुनका में बंदरों के हमले में एक युवक की मौत हो गई. तो वहीं दो युवक भी गंभीर रूप से घायल हुए. कुछ महीने पहले दुनका में ही एक और बच्चे की भी बंदरों ने जान ले ली थी. 3 माह में लगभग 880 लोगों को बंदर काटकर चोटिल कर चुके है. जिला अस्पताल बरेली में रेबीज वैक्सीन लगवाने आए लोगों के आंकड़ों के अनुसार जुलाई में 394, अगस्त 276 और सितंबर 210 लोगों को बंदरों ने काटा था. औसतन बंदर काटने से चोटिल होने वाले प्रतिदिन 5 से 6 लोग जिला अस्पताल में रेबीज वैक्सीन लगवाने पहुंच रहे है.

बरेली के पुराने रोडवेज से बंदरों को भगाने के लिए अब रोडवेज प्रशासन ने लंगूरों के कट आउट का सहारा लिया है. जो कारगर साबित हो रहा है. जहां कहीं परिसर में बंदर नजर आते हैं. वहां रोडवेज कर्मचारी लंगूर के इस कट को लेकर बंदरों को सामने से दिखाते हैं. जिसके बाद यह देखते ही बंदर दहशत से भागते नजर आ रहे है. बंदरों का आतंक कम हुआ है तो यात्री भी बेखौफ होकर इधर-उधर आराम से आ जा रहे हैं.

बंदरों के आतंक से लोग परेशान
बंदरों के आतंक को रोकने में बरेलीवासी काफी चिंतित हैं. नए तरीके अपनाते हुए दिख रहे हैं. कोई घर में खुले जगह को जाल से ढका रहा है तो कोई फेंसिंग करवा रहा है. रोडवेज चालक और कर्मचारी बंदरों से काफी परेशान थे. बंदर खड़ी बसों में खिड़की के सहारे घुसकर सीटें फाड़ देते थे. लेकिन अब इन कट आउट से कुछ राहत जरूर मिली है.

लंगूर न मिले पर कट आउट आया काम
परिवहन विभाग बरेली के एआरएम संजीव श्रीवास्तव ने बताया कि बंदरों को भगाने के लिए लंगूर के कट आउट बनवाए गए है. इससे पुराने रोडवेज परिसर में फिलहाल बंदरों के आतंक से काफी राहत मिली है. जिसके चलते और जगहों पर भी जरुरत पड़ने पर लंगूरों के इन कट आउट को लगाया जाएगा.

Tags: Bareilly news, Bareilly police, Monkeys problem, Up forest department, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here