Breaking news Schools closed in Madhya Pradesh till Jan 31 amid Covid 19 cases spike know new restrictions mpsg

0
15


भोपाल. मध्य प्रदेश के सभी स्कूल 31 जनवरी तक बंद (School Closed) रहेंगे. मेले और रैली-जुलूस पर भी रोक लगा दी गयी है. कोरोना के हालात की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) के साथ  हुई क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों की वर्चुअल बैठक में ये फैसला लिया गया. कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को बचाने के लिए सरकार ने ये बड़ा ऐलान किया है. बैठक में पूरे प्रदेश के सभी जिलों के कलेक्टर और संभागों के कमिश्नर मौजूद थे.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना के हालात की समीक्षा के लिए आज पूरे प्रदेश की जिला क्राइसिस मेनेजमेंट कमेटियों के साथ वर्चुअल बैठक की. बैठक में कलेक्टर और कमिश्नर सभी मौजूद थे. लंबी चली बैठक में मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के हालात की जानकारी ली.

मेले-रैली बड़े आयोजन पर रोक
आज की बैठक में एक और बड़ा फैसला हुआ कि प्रदेश में अब कहीं भी मेले नहीं लगेंगे और रैली पर प्रतिबंध रहेगा. हॉल में कार्यक्रम हो सकेंगे लेकिन उसमें बैठक क्षमता से 50 प्रतिशत लोग ही मौजूद हों. और ज्यादा से ज्यादा 250 लोग ही आ सकते हैं. सरकार ने सभी बड़ी सभाएं, आयोजन भी प्रतिबंधित कर दिए हैं.

ये भी पढ़ें- नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन रैकेट में हवाला की रकम का इस्तेमाल? प्रवर्तन निदेशालय ने SP को लिखी चिट्ठी

प्री बोर्ड टेक होम एग्जाम
20 जनवरी से प्री बोर्ड परीक्षाएं शुरू होना थीं. सरकार ने आज फैसला लिया कि अब टेक होम एग्जाम होंगे. इसके लिए इंतजाम किए जाएं. साथ ही खेल गतिविधियां भी 50 प्रतिशत खिलाड़ियों की मौजूदगी में होंगी. ऐसे आयोजनों में जनता की एंट्री पर रोक रहेगी.

96 फीसदी मरीज होम आइसोलेटेड
बैठक में ACS मोहम्मद सुलेमान ने जानकारी दी कि कोरोना की तीसरी लहर में एमपी के 96 फीसदी मरीज होम आइसोलेटेड हैं. ये जानकारी मिलते ही सीएम शिवराज ने अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिये. उन्होंने कहा घर मे इलाज करवा रहे मरीजों तक दवाइयों की किट समय पर पहुंचायी जाए. जिला प्रशासन होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजो के निरंतर संपर्क में रहे. तीसरी लहर में सबसे महत्वपूर्ण होम आईसोलेशन है.

सभी जिलों में बनेंगे कोविड केयर सेंटर
सीएम ने सभी जिलों में छोटे कोविड सेंटर बनाने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने कहा ब्लॉक स्तर पर भी कोविड सेंटर शुरू किये जाएं. आज हुई इस वर्चुअल बैठक में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी जुड़े. इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने सीएम के सामने सुझाव रखा कि सख्ती बढ़ायी जाना चाहिए. इंदौर में हमने सख्ती बढ़ाई तो संक्रमण की दर कम हो सकती है. अगर सख्ती नहीं बढ़ाई तो रोज के आंकड़े 10 हजार के पास आएंगे.

इन कलेक्टर्स से नाराजगी जताई
सीएम शिवराज ने भिंड कलेक्टर से नाराजगी जताई. जिले में वैक्सीनेशन की रफ्तार कम होने पर सीएम ने भिंड कलेक्टर से प्रमाण के साथ वैक्सीनेशन के कागज मांगे. शिवराज सिंह ने कहा जिन जिलों में कम वैक्सीनेशन हुआ है वहां के अधिकारियों को जबाब देना होगा. सीएम शिवराज ने खरगोन, बड़वानी कलेक्टर से वैक्सीनेशन को लेकर वेरीफाइड रिपोर्ट मांगी. सीएम ने उनसे पूछा-आपके यहां वैक्सीन की दूसरा डोज का 85 फीसदी वैक्सीनेशन ही क्यों हुआ.

गांव-गांव जाएं क्राइसिस मैनेजमेंट समूह
सीएम ने सभी कलेक्टरों से कहा क्राइसिस मैनेजमेंट समूहों को गांव-गांव भेजा जाए. एमपी के मूलनिवासी जो दूसरे प्रदेश में है उसकी सूची मांगी जाए. सीएम शिवराज ने खरगोन, बड़वानी कलेक्टर से वैक्सीनेशन को लेकर वेरीफाइड रिपोर्ट मांगी. सीएम ने उनसे पूछा-आपके यहां वैक्सीन की दूसरा डोज का 85 फीसदी वैक्सीनेशन ही क्यों हुआ

विदिशा क्यों फिसड्डी
सीएम ने विदिशा कलेक्टर से पूछा-बच्चो के वैक्सीनेशन में विदिशा क्यों फिसड्डी रहा. ग्वालियर कलेक्टर से कहा – मैं आपकी बातों से संतुष्ट नही हूं. इस पर कलेक्टर ने कहा- मेरे पास 13 हजार बच्चों की ही जानकारी है.

स्वास्थ्यकर्मियों की छुट्टी पर रोक
इस बीच कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए भोपाल में स्वास्थ्य कर्मियों की छुट्‌टी पर रोक लगा दी गयी है. भोपाल के (CMHO) डॉ प्रभाकर तिवारी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है. आदेश में कहा गया है कि अपरिहार्य कारणों को छोड़कर अवकाश नहीं दिया जाएगा. आदेश में ये भी कहा गया है कि कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को रोकने और बचाव कार्य को देखते हुए किसी भी अधिकारी, कर्मचारियों को अभी छुट्टी देना संभव नहीं होगा.

17 को फिर करेंगे चर्चा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 17 जनवरी को टीकाकरण के बारे में कलेक्टरो से चर्चा करेंगे. एसीएस मोहम्मद सुलेमान ने कहा-कोरोना जांच के लिए मेडिकल स्टोर पर जांच कीट मिल रही है। उससे लोग टेस्ट करवा रहे है। लेकिन कलेक्टर सभी मेडिकल स्टोर को निर्देश दे वह इन कीट का रिकार्ड रखे और पोर्टल पर भी जानकारी अपलोड हो.

आपके शहर से (भोपाल)

मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश

Tags: Breaking News, Madhya Pradesh Corona Siren, Madhya pradesh latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here