BSE NSE news Share Market News Why stock markets are rising despite surge in Omicron casese – Business News India

0
24


फेडरल रिजर्व के जेरोम पॉवेल के कांग्रेस में बयान के बाद वैश्विक इक्विटी के बीच भारतीय शेयर बाजार भी मजबूती में हैं। आज सुबह के कारोबार में सेंसेक्स 90 अंक से अधिक ऊपर है जबकि निफ्टी 18,239 से ऊपर कारोबार कर रहा है। फेडरल रिजर्व के प्रमुख जेरोम पॉवेल ने मंगलवार को कहा कि वह मुद्रास्फीति पर लगाम लगाने के लिए दृढ़ हैं, इसके साथ ही उन्होंने अर्थव्यवस्था में स्वस्थ सुधार को बनाए रखने की बात की। भारतीय बाजार की बात करें तो कोविड के मामलों में उछाल के बावजूद भारतीय बाजार लगातार पांचवे सेशन में ऊपर हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत ने COVID-19 मामलों की कुल संख्या में 1,94,720 नए कोरोनावायरस संक्रमण जोड़े, जिसमें ओमिक्रॉन के 4,868 मामले शामिल हैं। सक्रिय मामले बढ़कर 9,55,319 हो गए हैं, जो 211 दिनों में सबसे अधिक है।

शार्ट टर्म में बाजार बुल्स के प्रभाव में 
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार डॉ वी के विजयकुमार का कहना है कि हालांकि यूरोप और अमेरिका में ओमीक्रॉन के मामलों में विस्फोट हो रहा है लेकिन बाजार में यह मान रहा है यह एक ऐसा रिस्क है जिसे मैनेज किया जा सकता है। अल्पकालिक समय में बाजार पर बुल्स का नियंत्रण दिख रहा है। 2020 में आईटी शेयरों में 55% और 2021 में 59.6% की वृद्धि हुई क्योंकि निवेशकों ने मांग पर दांव लगाया। महामारी के दौरान आईटी सर्विसेज की मांग में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।

आईटी और बैंकिंग का प्रभाव 
विजयकुमार का कहना है, “आईटी कंपनियों से अपेक्षित अच्छे परिणाम से बाजार में लचीलापन आने की संभावना है। शनिवार से शुरू होने वाले प्रमुख बैंकों के परिणाम भी घटते प्रावधान और बढ़ते एनआईएम के कारण अच्छे होंगे।” इस साल फेड रेट में अपेक्षित बढ़ोतरी के जोखिमों पर उन्होंने कहा: “यह ध्यान रखना दिलचस्प है कि फेड प्रमुख के बयान के बावजूद यूएस के 10- साल के बॉन्ड यील्ड में मामूली गिरावट आई। यह दर्शाता है कि बाजार 2022 में पहले ही तीन या चार दरों में संभावित बढ़ोतरी को मान चुका है।

तीसरी तिमाही के नतीजों से बाजार को उम्मीदें
इक्विटी 99 के सीओ-ओनर राहुल शर्मा का मानना है कि तीसरी तिमाही के नतीजों को लेकर बाजार में काफी सकारात्मक उम्मीदें हैं। दीन दयाल इन्वेस्टमेंट्स के प्रोपराइटरी इंडेक्स ट्रेडर और टेक्निकल एनालिस्ट मनीष हाथीरमणि ने कहा, ‘बाजार 18000 के स्तर से ऊपर बना हुआ है। हमें अगले लक्ष्य के रूप में 18400-18500 की ओर देखना चाहिए। चूंकि 17700 पर बाजार को अच्छा सपोर्ट है, इसलिए निफ्टी पर लॉन्ग पोजीशन के लिए किसी भी इंट्राडे करेक्शन का इस्तेमाल किया जाना चाहिए।”

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here