Budget 2022: वित्‍त मंत्री ने कोरोना से लड़ने वाले विभागों के बजट में ही कर दी कटौती, जानें किसे मिला कितना फंड?

0
83


नयी दिल्ली.  विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय (Ministry of Science and Technology) को केंद्रीय बजट (budget) 2022-23 में 14,217 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जो पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 3.9 प्रतिशत कम है. मंत्रालय में तीन विभाग विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), जैव प्रौद्योगिकी विभाग और वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग (डीएसआईआर) हैं. विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग को 6,000 करोड़ रुपये, जैव प्रौद्योगिकी विभाग को 2,581 करोड़ रुपये और वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग को 5,636 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. इन सभी विभागों ने देश में कोविड-19 महामारी से निपटने में अहम भूमिका निभाई.

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के तहत केंद्रीय क्षेत्र की योजनाओं को 2,894 करोड़ रुपये आवंटित किए गए, जो 2021-22 में 2,915 करोड़ रुपये से कम है. वहीं, जैव प्रौद्योगिकी विभाग के तहत केंद्रीय क्षेत्र की योजनाओं के लिए 1,680 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जो 2021-22 में 2,620 करोड़ रुपये से कम है. साथ ही, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान विभाग के तहत केंद्रीय क्षेत्र की योजनाओं के लिए 39 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जो 2021-22 में 35 करोड़ रुपये से अधिक है.

वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद को 5,562 करोड़ रुपये दिए गए हैं. कुल मिलाकर, बजट आवंटन में 2021-22 से 3.89 प्रतिशत की कमी 2021-22 से देखी गई है जब 14,793 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे.

Tags: Budget, FM Nirmala Sitharaman



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here