cbse class 12 results 2020 NIC told technical issue in accessing cbse results

0
7


नई दिल्ली :

CBSE की ओर से 12वीं बोर्ड रिजल्ट जारी हो गया है. सीबीएसई क्लास 12 रिजल्ट अभी भी कई छात्र नहीं देख पा रहे हैं. तकनीकी समस्या की वजह से वेबसाइट और ऐप नहीं खुल रहे हैं. सीबीएसई हेडक्वार्टर ने ट्वीट करके कहा है कि अगले दो घंटे बाद से फिर से सीबीएसई का वेबसाइट और ऐप काम करने लगेगा.

सीबीएसई ने बताया, ‘जैसा कि NIC द्वारा सूचित किया गया है कि cbse परिणामों तक पहुंचने में एक तकनीकी समस्या है. दो घंटे में फिर से शुरू होने की संभावना है. हालांकि, सभी स्कूलों में रिजल्ट भेजे गए हैं. छात्र प्रशासन से संपर्क कर रिजल्ट ले सकते हैं. इसके साथ डिजिटल लॉकर से भी रिजल्ट ले सकते हैं.’

बता दें कि सीबीएसई 12वीं का जब रिजल्ट घोषित हुआ तब काफी संख्या में छात्रों ने शिकायत की कि वेबसाइट और उमंग ऐप ठीक से काम नहीं कर रहा है. छात्रों की परेशानी को देखते हुए केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि स्कूलों को परिणाम भेजे गए हैं और छात्रों को स्कूल प्रशासन से सम्पर्क करना चाहिए. इस पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि देश में सभी स्कूलों को उनकी आईडी पर 12वीं कक्षा के परिणाम भेजे गए हैं.

ये भी पढ़े  CSIR NET Final Revised Result 2019 हुआ जारी, ऐसे करें चेक CSIR NET Final Revised Result 2019 Declared on NTA official Website

इसे भी पढ़ें:हाई कोर्ट मेडिकल प्रवेश में ओबीसी कोटे को लेकर दायर याचिका पर जल्‍द फैसला ले: सुप्रीम कोर्ट

बहरहाल, 12वीं कक्षा में सम्पूर्ण दिल्ली क्षेत्र के छात्रों का पास प्रतिशत 94.39 रहा. बोर्ड के बयान के अनुसार, दिल्ली पश्चिम क्षेत्र के छात्रों का पास प्रतिशत 94.61 प्रतिशत, दिल्ली पूर्व क्षेत्र का पास प्रतिशत 94.24 प्रतिशत दर्ज किया गया. सम्पूर्ण दिल्ली क्षेत्र से इस वर्ष 2,39,870 छात्रों ने परीक्षा के लिये पंजीकरण कराया था और 2,37,901 छात्र परीक्षा में बैठे . इसमें से 2,24,552 छात्र परीक्षा में पास हुए.

और पढ़ें: Google CEO सुंदर पिचाई ने PM मोदी से की बातचीत, भारत में 75,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगी कंपनी

बोर्ड ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लंबित परीक्षाएं रद्द कर दी थीं और वैकल्पिक मूल्यांकन योजना के आधार पर परिणाम घोषित किया है. चार बिन्दुओं पर आधारित इस योजना के तहत छात्रों को जिस विषय में सबसे अच्छे अंक मिले हैं, उसी के आधार पर उस विषय में अंक दिये गए, जिसकी परीक्षा नहीं ली गई. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों को बधाई देते हुए ट्वीट किया कि छात्रों का स्वास्थ्य एवं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है.







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here