CG Weather Update Monsoon will be active again heavy rain in coming three days

0
16


रायपुर. बारिश (Heavy Rain) का इंतजार छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के किसान से लेकर हर आम आदमी भी कर रहा है. डैम जलाशयों में भी इस बार खंड वर्षा के चलते जल भराव नहीं हो सकता है. एक सिस्टम डेवलप हो रहा है जिससे उम्मीद जगी है कि छत्तीसगढ़ में 6 सितंबर से अच्छी बारिश होगी. मौसम विभाग का मानना है कि बारिश 8 सितंबर तक हो सकती है. मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा ने न्यूज 18 से बातचीत के दौरान कहा है कि अभी मानसून (Chhattisgarh Monsoon) द्रोणिका मणीपुर की ओर मूव कर गया है. प्रदेश में फिलहाल मानसून ब्रेक की स्थिति है. मगर 5 और 6 सितंबर को एक नया सिस्टम डेवलप होकर दक्षिण की ओर मूव करेगा. इसके बाद 8 सितंबर तक अच्छी बारिश होने की संभावना है.

छत्तीसगढ़ के 12 जिलों में अभी भी खंड वर्षा की स्थिति है. एक जिला सुकमा जहां सबसे अधीक बारिश हुई है. वहीं 14 जिलों में सामान्य बारिश दर्ज की गई है. बीते साल की तुलना में अब तक 15 प्रतिशत कम बारिश हुई है. एक सिस्टम उत्तर बंगाल की खाड़ी पर डेवलप हो रहा है, जिससे अनुमान है कि प्रदेश में अच्छी बारिश होगी.

किन जिलों में हो सकती है बारिश

जब मानसून द्रोणिका मणीपुर से मूव होकर दक्षिण छत्तीसगढ़ की ओर मूव करेगा, तो अच्छी बारिश की संभावना है. प्रदेश के बिलासपुर, रायपुर और दुर्ग संभाग के कई जिलों में भारी बारिश हो सकती है. वहीं इस बार बस्तर संभाग के सुकमा जिले को  छोड़ दे तो अमूमन अधिकांश जिलों में कम बारिश दर्ज की गई है. उम्मीद जताया जा रहा है कि 6 से 8 सितंबर के बीच बस्तर संभाग के सभी जिलों में अच्छी बारिश हो सकती है.

ये भी पढ़ें:  KBC 13: भरतपुर की आयशा ने दिया 11 सवालों का जवाब, जीती हुई रकम से करेंगी बच्चों की मदद

गहरा सकता है जल संकट

छत्तीसगढ़ के किसान मानसून की बेरुखी की मार झेल रहे हैं. प्रदेश के 46 डेम और जलाशयों में से महज 4 ऐसे हैं, जिसमें 100 फीसदी पानी है. अगर आने वाले दिनों में बारिश नहीं हुई, तो छत्तीसगढ़ में जल संकट गहरा सकता है. बता दें कि बस्तर संभाग के सुकमा जिले को छोड़कर अधिकांश जिलों में इस बार कम बारिश हुई है. सुकमा प्रदेश का एकमात्र ऐसा जिला है जहां बीते वर्ष की तुलना में इस बार 44 प्रतिशत अधिक बारिश दर्ज की गई है. इसके अलावा छत्तीसगढ़ के 14 जिलों में औसत बारिश हुई है. जबकि 12 जिलों में खंड बारिश की स्थिति बनी हुई है. पिछले साल अगस्त माह में 890.6 एमएम पानी गिरा था, लेकिन इस बार बारिश सिर्फ 760.9 एमएम हुई है. इस बार पूरे प्रदेश में 15 प्रतिशत कम बारिश दर्ज की गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here