CM योगी का विपक्ष पर ‘प्रहार’, कहा- देश में बहुत ‘जानवर’ खुले घूम रहे, जिनकी जगह चिड़ियाघर

0
28


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार गोरखपुर के विकास के प्रति गंभीर है

गोरखपुर महोत्सव (Gorakhpur Mahotsav) के समापन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कटाक्ष करते हुए कहा कि देश में बहुत से जानवर खुले घूम रहे हैं जिनकी जगह चिड़ियाघर है. स्पष्ट तौर पर उनका निशाना विपक्षी नेताओं पर था

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 7:12 PM IST

गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बुधवार को गोरखपुर महोत्सव (Gorakhpur Mahotsav) का समापन किया. इस मौके पर उन्होंने गोरखपुर के चिड़ियाघर (Gorakhpur Zoo) को दर्शकों के लिए जल्द खोलने की बात कही. उन्होंने कहा कि अगर इतनी ठंड न पड़ रही होती, तो कुछ जानवर भी ले आए होते. इस दौरान उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि देश में बहुत से जानवर खुले घूम रहे हैं जिनकी जगह चिड़ियाघर है. स्पष्ट तौर पर उनका निशाना विपक्षी नेताओं पर था.

सीएम योगी ने कहा कि हमारी योजना है कि जल्द ही गोरखपुर के रामगढ़ ताल में सी-प्लेन उतरे, जिससे लोगों को और सहूलियत हो. इस साल खाद कारखाना धुआं उगलता दिखाई देगा. जब तक सड़कों के चौड़ीकरण की हिम्मत हम नही दिखाएंगे तब तक जाम की समस्या से जूझना पड़ेगा. बहुत जल्द कुशीनगर से इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू होगी. उन्होंने कहा कि 16 जनवरी से देश में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अंतिम प्रहार शुरू होने जा रहा है. किसी आपदा से कैसे लड़ा जाना चाहिए, यह पिछले साल के 80 फीसदी हिस्से में हमने देखा. सरकार ने संयम और सब्र का परिचय देते हुए बड़ा काम किया है.

मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति की बधाई देते हुए कहा कि महोत्सव को लेकर कुछ लोग नहीं, तो कुछ मनाने के पक्ष में थे. इस तरह का महोत्सव दो दिन का ही हो, पर होना चाहिए. वर्ष 2008-09 में हमने गोरखपुर में टेक्सटाइल पार्क की स्वीकृति कराई थी पर वो बन नही पाया. अब स्वदेशी आंदोलन के जरिए खादी को आगे बढ़ाया जा सकता है. मैं स्वयं खिचड़ी की तैयारी पर्व के लिए आया हूं. कल (गुरुवार) खिचड़ी पर हम 10 रुपए का एक डाक टिकट और प्रदेश सरकार की डिजिटल डायरी लॉन्च करेंगे.


<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here