College Unlocked in MP from today Classes start with 50 percent students but these rules have to be followed mpsg

0
24


भोपाल. मध्यप्रदेश (MP) में आज से कॉलेज अनलॉक (College Unlock) हो गए हैं. प्रदेश भर के छात्र-छात्राएं डेढ़ साल बाद आज कॉलेज पहुंच रहे हैं. हालांकि पेरेंट्स की सहमति के बाद और सिर्फ 50 फ़ीसदी छात्र छात्राओं की मौजूदगी में ही क्लास शुरू की गयी हैं. वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने के बाद ही उन्हें अंदर प्रवेश दिया जा रहा है. उच्च शिक्षा विभाग ने सभी कॉलेजों में कोरोना गाइडलाइंस का पालन कराने के निर्देश जारी किए हैं. कॉलेज में मास्क, सेनेटाइजेशन सहित कोरोना गाइड लाइन का पालन अनिवार्य होगा.

मध्यप्रदेश में आज से कॉलेज खुल गए हैं. भोपाल के साथ ही प्रदेश भर के सभी कॉलेजों में कक्षाओं को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली गईं थीं. कॉलेजों में मेन गेट पर छात्र-छात्राओं को वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने पर ही एंट्री दी जा रही है. बिना टीकाकरण प्रमाण पत्र के कॉलेजों में प्रवेश नहीं दिया जाएगा. कॉलेजों में छात्र छात्राओं के प्रवेश के लिए माता-पिता की लिखित सहमति अनिवार्य रहेगी.

कॉलेज आने वाले पूरे स्टाफ और छात्र छात्राओं सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा. ऑफलाइन कक्षाओं के साथ ही ऑनलाइन क्लासेस की व्यवस्था भी की गई है. जो स्टूडेंट्स नहीं आना चाहें वो ऑनलाइन क्लासेस अटेंड कर सकते हैं. इसका टाइम टेबल जल्दी ही जारी किया जाएगा.

ये भी पढ़ें-MP School Reopen: एमपी में प्राइमरी स्कूलों को खोलने का आदेश, डिटेल में जानें किस क्लास के लिए क्या है गाइडलाइन

कॉलेजों में बदली व्यवस्था
कॉलेज में छात्र-छात्राओं के पहुंचने पर लाइब्रेरी में भी सीमित संख्या में ही प्रवेश की व्यवस्था रहेगी. 50 फ़ीसदी स्टाफ और छात्र छात्राओं के साथ कॉलेज की लाइब्रेरी खोली जाएगी. कॉलेज परिसर में सीसीटीवी कैमरों के जरिए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सैनिटाइजेशन की निगरानी की जाएगी. थर्मल स्क्रीनिंग के बाद छात्र छात्राओं को कॉलेज में अंदर आने दिया जाएगा. अगर किसी स्टूडेंट में सर्दी खांसी बुखार या कोविड के हल्के लक्षण दिखाई देते हैं, तो उसे तुरंत आइसोलेट किया जाएगा. स्टूडेंट और कॉलेज स्टाफ के अलावा किसी भी व्यक्ति को कॉलेज परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

स्टूडेंट्स के साथ पूरे स्टाफ के लिए वैक्सीनेशन अनिवार्य
उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज खोलने के 5 दिन पहले यानी गुरुवार को ही इस संबंध में आदेश जारी कर दिये थे. प्रोफ़ेसर्स, स्टाफ और स्टूडेंट का वैक्सीनेशन अनिवार्य रहेगा. अगर स्टाफ का कोई व्यक्ति और स्टूडेंट्स वैक्सीनेशन नहीं करा सके हैं तो उनके लिए कॉलेजों में ही वैक्सीनेशन कैंप लगाए जाएंगे. ताकि 100% स्टाफ वैक्सीनेट हो सके. कॉलेज और यूनिवर्सिटी में कंटेनमेंट जोन से संबंधित विद्यार्थियों और स्टाफ को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. कॉलेज के सभी स्टाफ और स्टूडेंट को आरोग्य सेतु एप पर अपने स्वास्थ्य की जानकारी रोजाना अपलोड करनी होगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here