Congress Politics: नवजोत सिद्धू के बहाने माकन ने गहलोत पर साधा निशाना, पायलट खेमा उत्‍साहित

0
22


जयपुर. पंजाब में आखिरकार नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Sidhu) को कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया है. इसके साथ ही चार कार्यकारी अध्यक्ष भी बनाए गए हैं. कांग्रेस आलाकमान द्वारा पंजाब का सियासी (Punjab’s Political Crisis) मसला हल किए जाने के बाद अब सभी की नजरें राजस्थान पर टिकी हैं. उम्मीद जताई जा रही है कि अब जल्द ही राजस्थान का सियासी विवाद भी हल होगा. खास तौर से सचिन पायलट खेमा (Sachin Pilot Group) इसे लेकर उत्साहित और आशान्वित नजर आ रहा है. वहीं, अशोक गहलोत खेमे (Ashok Gehlot Camp) पर आलाकमान के इस फैसले से दबाव बढ़ेगा. राजनीतिक हलकों में तरह-तरह की अटकलें भी लगाई जा रही हैं. इस बीच अजय माकन के एक रिट्वीट ने राजस्थान कांग्रेस में हलचल मचा दी है.

कयास यह भी लगाया जा रहा है कि राजस्थान में सचिन पायलट को फिर से प्रदेशाध्यक्ष पद पर काबिज किया जा सकता है. वहीं, पंजाब की तरह चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने की अटकलें लगाई जा रही हैं. इन सबके बीच अजय माकन द्वारा एक ट्वीट को किए गए रिट्वीट से भी हलचल है और पायलट खेमा इसे अपने पक्ष में मानकर चल रहा है. वहीं, माकन के इस रिट्वीट से गहलोत खेमा बेचैन बताया जा रहा है.

यह लिखा है ट्वीट में

नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अजय माकन ने एक पत्रकार के दो ट्वीट्स को रिट्वीट किया है. इन ट्वीट्स में लिखा, ‘किसी भी राज्य में कोई क्षत्रप अपने दम पर नहीं जीतता है. गांधी-नेहरू परिवार के नाम पर ही गरीब, कमजोर वर्ग, आम आदमी का वोट मिलता है. मगर चाहे वह अमरिन्द्र सिंह हो या गहलोत या पहले शीला या कोई और!’

राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने इसे रिट्वीट किया है.

ये हैं इस रिट्वीट के मायने

यह माना जा रहा है कि इस ट्वीट को रिट्वीट कर अजय माकन ने सीधे तौर पर अशोक गहलोत पर निशाना साधा है. दरअसल, अजय माकन राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी महासचिव हैं. प्रदेश के सियासी मसले को सुलझाना उनकी जिम्मेदारी है. लेकिन, पिछले करीब एक साल में वे इसमें पूरी तरह नाकाम रहे हैं. गहलोत के आगे माकन की दाल नहीं गल पा रही है और माकन द्वारा बार-बार तारीखें देने के बावजूद प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार और बड़े स्तर की राजनीतिक नियुक्तियां नहीं हो पाई हैं.

jaipur news, rajasthan news, rajasthan congress Politics, ashok gehlot Vs sachin pilot, ajay maken, Capt Amarinder Singh Vs Navjot Sidhu, राजस्थान न्यूज, जयपुर न्यूज, राजस्थान की राजनीति

ये लिखा है इस ट्वीट में.

माकन को गहलोत पर दबाव बढ़ाने का मौका मिला

अब माकन को पंजाब के ताजा सियासी घटनाक्रम के बहाने अपनी खीझ मिटाने और गहलोत पर दबाव बढ़ाने का मौका मिल गया है. माकन ने क्षत्रपों को उनकी हकीकत समझाने का प्रयास किया है कि जिसे वो अपना चमत्कार समझ रहे हैं. दरअसल, वो आलाकमान सोनिया गांधी की करामात है और उन्हें मुगालतों में नहीं रहना चाहिए. माकन ने एक तीर से दो निशाने साधते हुए जहां पार्टी आलाकमान की नजर में अपने नंबर बढ़ाने की कोशिश की है. वहीं, गहलोत को भी इशारों ही इशारों में समझाने की कोशिश की है. माकन के इस रिट्वीट से पायलट खेमे में उम्मीदों का संचार हुआ है तो गहलोत खेमे पर इससे दबाव बढ़ेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here