Covid-19 से जूझने वाले डायबिटीज पेशेंट्स के लिए बुरी खबर ! अब इस बीमारी का हो सकते हैं शिकार

0
11


हाइलाइट्स

डायबिटीज के मरीजों को किसी भी तरीके का इंफेक्शन जल्दी जकड़ सकता है.
हालिया स्टडी में बताया गया है कि कैसे कोविड के लॉन्ग टर्म इफेक्ट हो सकते हैं.

Covid-19 Increase Heart Failure Risk- पूरी दुनिया में कोविड-19 संक्रमण पिछले 3 सालों से कहर बरपा रहा है. इस संक्रमण की चपेट में अब तक करोड़ों लोग आ चुके हैं और बड़ी तादाद में लोगों ने कोरोना वायरस को मात देकर जंग जीती है. डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों के लिए कोविड संक्रमण ज्यादा खतरनाक साबित हुआ, लेकिन इसके बावजूद भी तमाम मरीजों ने कोरोना को मात देकर जान बचा ली. एक हालिया स्टडी में कोविड से जीत चुके डायबिटीज मरीजों को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है, जिसने लोगों को टेंशन में डाल दिया है. आखिर इस रिसर्च में लोगों को हैरान करने वाली कौन सी बातें सामने आई हैं? इस बारे में जान लेते हैं.

स्टडी में खुलासा- ऐसे मरीजों को हार्ट फेलियर का खतरा

ANI की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकन जर्नल ऑफ फिजियोलॉजी में प्रकाशित हुई एक स्टडी में बताया गया है कि डायबिटीज के जो मरीज कोविड-19 संक्रमण का शिकार हो चुके हैं, उन्हें लंबे समय बाद भी हार्ट फेलियर समेत कई बीमारियों का खतरा बढ़ गया है. यह स्टडी यूनिवर्सिटी ऑफ सेंट्रल फ्लोरिडा के कॉलेज ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने की है. इसमें बताया गया है कि कोविड से उबरने के लंबे समय बाद भी इसके साइड इफेक्ट्स डायबिटीज पेशेंट्स की हेल्थ को बुरी तरह प्रभावित कर सकते हैं. कोविड संक्रमण ऐसे मरीजों के जेनेटिक मेकअप को बदल सकता है, जिसकी वजह से हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ जाता है.

यह भी पढ़ें- डायबिटीज के मरीज दोपहर या शाम को करें वर्कआउट, ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Covid-19 के 3 लॉन्ग टर्म इफेक्ट होने का खतरा

इस स्टडी के शोधकर्ता डॉ. देनेन्द्र सिंगला का कहना है कि कोविड-19 संक्रमण के डायबिटीज के मरीजों पर तीन लॉन्ग टर्म इफेक्ट हो सकते हैं. पहला संक्रमण की वजह से कॉग्निटिव डिसफंक्शन हो सकता है, जो अल्जाइमर का कारण बनता है. दूसरा प्री डायबिटीज वाले लोगों को डायबिटीज हो सकती है. इसके अलावा यह कार्डियोमायोपैथी या मसल डिस्फंक्शन की वजह बन सकता है. कोविड के यह 3 इफेक्ट लंबे समय तक डायबिटीज के मरीजों को परेशान कर सकते हैं. इसकेेे अलावा हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ने की आशंका है.

भविष्य में कारगर साबित हो सकती है यह रिसर्च

इस स्टडी के शोधकर्ताओं का कहना है कि इस रिसर्च में यह बात तो साफ जाहिर हो चुकी है कि कोविड इंफेक्शन का डायबिटीज के मरीजों पर लॉन्ग टर्म इफेक्ट रहेगा, लेकिन यह 10 साल रहेगा या 20 साल, इस बारे में ज्यादा रिसर्च करने की जरूरत है. यह कुछ ऐसे सवाल हैं जिनका जवाब अभी मिलना बाकी है. हालांकि इस रिसर्च में जो बातें सामने आई हैं, उनकी मदद से भविष्य में इन परेशानियों के ट्रीटमेंट में मदद मिलने की उम्मीद है.

यह भी पढ़ें- डेंगू के मरीजों को कब पड़ती है प्लेटलेट चढ़ाने की जरूरत? यहां समझें पूरा गणित

Tags: Covid19, Diabetes, Health, Lifestyle



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here