Dev Deepawali 2022: काशी में देव दीपावली की धूम, 84 घाटों पर जलाए गए 10 लाख दीये

0
22


हाइलाइट्स

देव दीपावली के मौके पर काशी के 84 घाटों पर 10 लाख दीपक जलाए गये.
जनसहभागिता से लोगों ने शहर में करीब 11 लाख दीपक जलाए.
चेतसिंह घाट पर लेजर शो आयोजित किया गया है, जो पर्यटकों को काफी पसंद आया.

वाराणसी. कार्तिक पूर्णिमा पर सोमवार को महादेव की नगरी काशी में देव दीपावली का आयोजन पूरे हर्ष और उल्लास के साथ किया गया और गंगा किनारे 84 घाटों पर 10 लाख दीपक जलाए गये. जनसहभागिता से लोगों ने शहर में करीब 11 लाख दीपक जलाए. प्रशासनिक अधिकारियों ने यह जानकारी दी. मां गंगा का अर्धचन्द्राकार स्वरूप लाखों दीपक की रोशनी से जगमगाता रहा. जिला प्रशासन के अनुसार प्रदेश की योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली सरकार की ओर से गंगा किनारे के 84 घाटों पर 10 लाख दीये जलाए गए, वहीं जनसहभागिता से लगभग 11 लाख दीये जलाए गए.

देव दीपावली का महत्व बताते हुए बटुक भैरव मंदिर के महंत जितेंद्र मोहन पूरी ने बताया कि कार्तिक मास के पूर्णिमा को ही भगवान शिव ने त्रिपुरासुर राक्षस का वध किया था. त्रिपुरासुर के वध की खुशी में देवताओं ने काशी में दीये जलाकर दिवाली मनायी थी और इसी कारण हर साल कार्तिक मास की पूर्णिमा पर काशी में देव दीपावली मनायी जाती है. जिला प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि देव दीपावली के अवसर पर गंगा के पश्चिमी तट पर स्थित 84 घाटों पर करीब आठ लाख दीये जलाए गए हैं. साथ ही पूर्वी तट को भी करीब दो लाख दीयों से रौशन किया गया है.

वहीं शहर वासियों ने पूरे शहर को लगभग 11 लाख दीयों से सजाया है. शहर के मंदिरों, तालाबों और अन्य जगहों को शहरवासियों ने दीयों से जगमग किया है. अधिकारी ने बताया कि चेतसिंह घाट पर लेजर शो आयोजित किया गया है, जो पर्यटकों को काफी पसंद आया. अधिकारियों ने बताया कि देव दीपावली समितियों ने काशी के विभिन्न घाटों पर काशी से जुड़े महान सपूतों को दीप अर्पित किया. अस्सी घाट पर महामना मदन मोहन मालवीय, तुलसी घाट पर तुलसीदास, हरिश्चन्द्र घाट पर डोम राजा, सिंधिया घाट पर तैलंग स्वामी जैसे विभूतियों के चित्र लगा कर श्रद्धांजलि अर्पित की गयी.

गंगा सेवा निधि की ओर से दशाश्वमेध घाट पर अमर शहीद ज्योति की अनुकृति तैयार कर देव दीपावली शहीद अमर जवानों को समर्पित की गई. वाराणसी के जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बताया कि सरकारी इमारतों, सभी चौराहों और खंभो पर तिरंगा लगाने समेत एलईडी लाइटिंग की गयी है. इसके अलावा हवाई अड़डा, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों का स्वागत किया गया. जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि देव दीपावली पर विश्व प्रसिद्ध काशी के घाट की आरती और सजावट का सजीव प्रदर्शन करने के लिए छह प्रमुख स्थानों पर बड़ी एलईडी स्क्रीन की व्यवस्था की गई है.

Tags: Uttar pradesh news, Varanasi news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here