Drunken teacher create ruckus at school bites his colleagues and pricks nails put off clothes before girls

0
24


उदयपुर. उदयपुर जिले (Udaipur district) के एक स्कूल में शराब के नशे में पीटीआई ने तीन घंटे तक खूब हंगामा किया. उसने छात्र-छात्राओं  (students) के सामने कपड़े उतारे. प्रिंसिपल व दूसरे शिक्षकों (Principle and teachers) ने रोकने की कोशिश की तो दांतों से काट लिया, नाखून चुभो दिए. शोर सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो पीटीआई (PTI) स्टाफ के साथ ही उनके साथ भी मारपीट करने लगा और गाली-गलौज शुरू कर दी.

कोटड़ी के खजूरिया स्कूल का पीटीआई देवीलाल मीणा करीब 12 बजे शराब के नशे में स्कूल पहुंचा. प्रिंसिपल आलोक शर्मा ने कहा कि आप घर चले जाएं, गुरुवार को स्कूल आएं.

साथी टीचरों को काटा, प्रिंसिपल को मारे नाखून
प्रिंसिपल आलोक शर्मा के समझाने पर देवीलाल और गुस्से में आ गया और उसने नाखून से जख्मी कर दिया. पीटीआई सभी को लगातार जान से मारने की भी धमकियां देता रहा. साथी टीचर बाबूलाल खेर और भगवतीलाल को भी काट लिया. तीन घंटे तक पीटीआई हुड़दंग मचाता रहा. इतना ही नहीं इसके बाद पीटीआई देवीलाल ने एक-एक कर अपने कपड़े उतारना शुरू कर दिया. इस दौरान 200 से ज्यादा छात्र-छात्राएं मौजूद थे. टीचर की हरकत पर कई गर्ल्स वहां से भागने लगी.

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत क्यों नहीं बोल पाते अंग्रेजी, खुद ही बताई बड़ी वजह

पुलिस ने भी बिना कोई कार्रवाई किए ही छोड़ा
स्कूल के स्टाफ ने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस मौके पर पहुंची और पीटीआई को थाने ले गई. इधर पुलिस ने भी बिना कुछ कार्रवाई किए उसे छोड़ दिया. जानकारी लेने पर सामने आया कि पीटीआई पहले भी कई बार शराब पीकर हंगामा कर चुका है. मामले में कार्रवाई के लिए प्रिंसिपल आलोक शर्मा ने सीबीईओ, डीईईओ और जिला शिक्षा अधिकारी को लिखा है. मामला राजस्थान बाल आयोग तक भी पहुंचा है.

पहले कई बार कर चुका है शराब पीकर हंगामा
प्रिंसिपल आलोक शेखर शर्मा के मुताबिक पीटीआई करीब 12 बजे स्कूल आया. वो शराब के नशे में धुत था. उसे समझाया कि आप जाओ इस पर उसने हंगामा शुरू कर दिया. उसने स्टाफ और मेरे साथ मारपीट की. मामले में उच्च अधिकारियों को कार्रवाई के लिए लिखा गया है. पुलिस ने भी बिना कुछ किए अध्यापक को छोड़ दिया.

आपके शहर से (उदयपुर)

Tags: Rajasthan news, Udaipur news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here