Earthquake in Himachal light termors felt in kangra at early morning on 17 April 2021 hpvk

0
23


सांकेतिक फोटो.

Earthquake in Himachal: वैज्ञानिकों का दावा है कि हिमालय के आसपास घनी आबादी वाले देशों में इससे भारी तबाही मच सकती है. राजधानी दिल्ली भी इसकी जद में होगी. शिमला और दिल्ली तो भूकंप के झटके सहने के लिए तैयार ही नहीं हैं.

शिमला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में शुक्रवार तड़के करीब तीन बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. हालांकि, गहरी नींद में होने के चलते लोगों को भूकंप का अहसास नहीं हुआ. मौसम विभाग के शिमला केंद्र के अनुसार, रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 3.5 मापी गई है. फिलहाल कहीं से किसी भी तरह के नुकसान की खबर नहीं है. 8 मार्च को भी आया था भूकंप हिमाचल प्रदेश में बीते माह आठ मार्च 2021 को भी चंबा जिले में भूकंप आया था. इस दौरान भूकंप की तीव्रता 3.6 रिक्टर स्केल मापी गई थी. इसके अलावा, किन्नौर में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. चंबा में आते हैं सबसे अधिक भूकंपहिमाचल में सबसे अधिक भूकंप चंबा जिले में आते हैं. इसके बाद किन्नौर, शिमला, बिलासपुर और मंडी संवेदनशील जोन में हैं. शिमला जिले को लेकर भी चेतावनी दी गई थी कि यह शहर भूकंप जैसी आपदा के लिए तैयार नहीं है. इसके अलावा किन्नौर में 1975 में बड़ा भूकंप आ चुका है. वहीं, कांगड़ा में 1905 में भूकंप आया था, जिसमें 20 हजार लोगों की जान गई थी. वैज्ञानिकों का दावा है कि हिमालय के आसपास घनी आबादी वाले देशों में इससे भारी तबाही मच सकती है. राजधानी दिल्ली भी इसकी जद में होगी. शिमला और दिल्ली तो भूकंप के झटके सहने के लिए तैयार ही नहीं हैं.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here