ESMA law implemented in Haryana health workers will not be able to strike for 6 months NODBK

0
95


चंडीगढ़. हरियाणा (Haryana) की राजधानी चंडीगढ़ (Chandigarh) में एक बड़ी खबर सामने आई है. डॉक्टर्स की हड़ताल को देखते हुए हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. कहा जा रहा है कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रदेश में एस्मा लागू कर दिया है.अब 6 महीने तक स्वास्थ्यकर्मी हड़ताल नहीं कर सकेंगे. जानकारी के मुताबिक, कोरोना की रोकथाम में बाधा डालने के लिए डॉक्टरों के एक समूह द्वारा हड़ताल पर चले जाने के बाद यह कदम उठाया गया है. स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज (Health Minister Anil Vij) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. गौरतलब है कि आज चिकित्सकों ने सभी ओपीडी बंद कर हड़ताल की थी. साथ ही चिकित्सकों ने 14 तारीख से सभी इमरजेंसी सेवाएं और ओपीडी बंद करने की चेतावनी दी थी.

बता दें कि हरियाणा के सरकारी अस्पतालों में मंगलवार को ओपीडी बंद रही. हालांकि, बुधवार-गुरुवार को ओपीडी सेवाएं बहाल रहेंगी. चिकित्सकों ने एलान किया है कि इन दो दिनों में मांगें नहीं मानी तो चिकित्सक 14 जनवरी शुक्रवार को इमरजेंसी सेवाएं बंद कर पूर्ण हड़ताल पर चले जाएंगे. यह फैसला हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन (एचसीएमएसए) ने लिया है.

तमाम प्रयास भी महिला की जान नहीं बचा सके
वहीं, कुछ देर पहले खबर सामने आई थी कि अपनी मांगों को लेकर चिकित्सक हड़ताल पर रहे, लेकिन चरखी दादरी में डॉक्टरों ने अपना फर्ज निभाया. चरखी दादरी सिविल अस्पताल में सामूहिक अवकाश (Leave) पर गए चिकित्सक एक महिला की जान बचाने के लिए इमरजेंसी कक्ष में पहुंच गए. हालांकि चिकित्सकों के तमाम प्रयास भी महिला की जान नहीं बचा सके.

 महिला की जान नहीं बच पाई
जानकारी के अनुसार शहर के हरिनगर निवासी 21 साल की युवती ने मंगलवार सुबह घर पर संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगा ली. इसकी सूचना मिलने पर डायल 112 की टीम महिला के घर पहुंची और वहां से उसे लेकर सिविल अस्पताल पहुंची. ये देखते ही अस्पताल के मेन गेट पर बैठकर धरना दे रहे डॉक्टर्स वहां से उठकर तुरंत इमरजेंसी कक्ष पहुंचे और महिला मरीज की जान बचाने के प्रयास शुरू किए, लेकिन महिला की जान नहीं बच पाई.

आपके शहर से (चंडीगढ़)

Tags: Anil Vij, Chandigarh news, Doctors, Haryana news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here