Euro 2020: यूरो कप आज से; 11 शहरों में होंगे मैच, जानिए ‘मिनी वर्ल्ड कप’ की 10 खास बातें

0
20


नई दिल्ली. इंतजार खत्म हुआ. ‘मिनी वर्ल्ड कप’ कहा जाने वाला यूरो कप (Euro Cup) आज से शुरू हो रहा है. यह टूर्नामेंट भले ही 2021 में हो रहा है, लेकिन इसे यूरो 2020 (Euro 2020) का नाम ही दिया गया है. यूरो कप के मुकाबले 11 जून से 11 जुलाई तक यूरोप के 11 अलग-अलग शहरों में होंगे. यूईएफए (UEFA) ने कहा है कि यूरो 2020 लोगों को ये याद दिलाएगा कि कैसे पूरा फुटबॉल परिवार कोरोनावायरस महामारी से पैदा हुए हालात का मुकाबला करने के लिए एकसाथ आया. यूरोप के इस सबसे बड़े फुटबॉल टूर्नामेंट की 10 प्रमुख बातें.

1. महीने भर चलेगा यूरो 2020

महीने भर चलने वाली इस प्रतियोगिता में कुल 24 टीमें 51 मैच खेलेंगी. प्रत्येक टीम ग्रुप चरणों में तीन गेम खेलेगी. 26 जून से नॉकआउट दौर शुरू होगा. यह यूरो कप का 16वां संस्करण है. अब तक 10 देशों ने इसका खिताब जीता है.

2. यूरोप के 11 शहरों में होंगे मैचयूरो 2020 पहले 12 शहरों में आयोजित किया जाना था. बाद में इसे घटाकर 11 शहर किया गया. इस बार लंदन, ग्लास्गो, कोपेनहेगन, बुडापेस्ट, एम्सटर्डम, रोम, म्यूनिख, बाकू, बुखारेस्ट, सेविल और सेंट पीटर्सबर्ग में मैच होंगे. टूर्नामेंट का फाइनल लंदन में होगा.

3. 3300 करोड़ रुपए की प्राइज मनी

यूरो 2020 में करीब 3300 करोड़ रुपए (Euro 2020 Prize Money) की प्राइजमनी दी जाएगी. इसमें से विजेता टीम को लगभग 88 करोड़ रुपए मिलेंगे. यूएफा के अनुसार, 1960 में पहला फाइनल जीतने के बाद सोवियत यूनियन के सभी 17 खिलाड़ियों को 200-200 डॉलर यानी कुल 3400 डॉलर दिए गए थे.

4. रोनाल्डो की टीम ‘ग्रुप ऑफ डेथ’ में

गत चैंपियन पुर्तगाल अपने अभियान की शुरुआत 15 जून को हंगरी के खिलाफ करेगा. पुर्तगाल को जिस ग्रुप में रखा गया है, उसे ‘ग्रुप ऑफ डेथ’ कहा जाता है. क्रिस्टियानो रोनाल्डो के नेतृत्व वाली पुर्तगाल को एफ ग्रुप में रखा गया है, जिसमें वर्ल्ड चैंपियन फ्रांस, जर्मनी और हंगरी शामिल हैं.

5. यूरो कप के अब तक के 10 चैंपियन

अब तक 10 टीमों ने कम से कम एक बार टूर्नामेंट का खिताब जीता है. जर्मनी और स्पेन ने सबसे ज्यादा 3-3 बार खिताब पर कब्जा किया. स्पेन लगातार दो बार 2008 और 2012 में यह टूर्नामेंट जीतने वाली इकलौती टीम है. पुर्तगाल टूर्नामेंट की डिफेंडिंग चैंपियन है. रूस, इटली, चेक रिपब्लिक, नीदरलैंड, डेनमार्क और यूनान भी एक-एक बार खिताब जीत चुके हैं.

6. यूरो कप के 60 साल पूरे

यूरो कप पहली बार 1960 में खेला गया था. 2020 में इसके 60 साल पूरे हुए. यूईएफए ने इसका जश्न मनाने की तैयारी की थी. कोरोना के कारण टूर्नामेंट एक साल के लिए टल गया. तब यूएएफए ने तय कि किया कि भले ही टूर्नामेंट 2021 में हो, लेकिन इसके 60 साल पूरा होने का जश्न मनाया जाएगा. इसी कारण चैम्पियनशिप को यूरो 2020 का ही नाम दिया गया.

7. नाम बदलते तो सामान की बर्बादी होती

यूईएफए ने यूरो 2020 का नाम नहीं बदलने का एक और कारण बताया. उसने कहा, ‘पिछले साल टूर्नामेंट के टलने से पहले ही यूरो कप से जुड़ा काफी ब्रांडेड सामान बनाया जा चुका था. अगर टूर्नामेंट का नाम बदला जाता, तो नए सिरे से सामान बनाना पड़ता और यह एक तरह की बर्बादी ही होती. हम यूरो 2020 में अतिरिक्त मात्रा में अपशिष्ट पैदा नहीं करेंगे.’

8. भारत में कहां देख सकते हैं?

सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क भारत में यूरो 2020 का आधिकारिक प्रसारक है. टूर्नामेंट का सीधा प्रसारण सोनी टेन 2 और सोनी टेन 3 (हिंदी) पर किया जाएगा. सोनी स्पोर्ट्स नेटवर्क के एचडी चैनल भारत में लाइव होंगे. इसकी लाइव स्ट्रीमिंग SonyLiv ऐप पर उपलब्ध होगी.

9. वर्ल्ड कप के बाद सबसे ज्यादा देखा जाना वाला टूर्नामेंट

यूरो कप, फीफा वर्ल्ड कप के बाद दुनिया में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला फुटबॉल टूर्नामेंट है. साल 2012 का फाइनल स्पेन और इटली के बीच खेला गया था. इसे दुनियाभर में 30 करोड़ लोगों ने देखा था. इसी तरह 2016 के फाइनल को लगभग 28 करोड़ लोगों ने देखा.

10. रोनाल्डो बना सकते हैं सबसे अधिक गोल का रिकॉर्ड

पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो के पास सबसे अधिक इंटरनेशनल गोल करने वाले खिलाड़ी बनने का मौका है. अभी यह रिकॉर्ड ईरान के अली देई (109 गोल) के नाम है. रोनाल्डो अब तक 103 इंटरनेशनल गोल कर चुके हैं. अगर वे यूरो कप में सात गोल दाग देते हैं तो उनके 110 गोल हो जाएंगे.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here