Exclusive: गाजियाबाद की ADM ऋतु सुहास बोलीं- अपने पेशे के अलावा भी बना सकते हैं पहचान, मॉडलिंग समेत ये हैं शौक

0
28


रिपोर्ट- विशाल झा

गाजियाबाद. आत्मविश्वास से रैंप पर चलती ये महिला कोई प्रोफेशनल मॉडल नहीं है बल्कि गाजियाबाद जिले की तेजतर्रार एडीएम अधिकारी ऋतु सुहास हैं. न्‍यूज़ 18 लोकल पर आज हम लाएं हैं एक ऐसी अधिकारी की कहानी जिन्होंने अपने पेशे के साथ-साथ अपनी निजी रुचियों को भी कभी मरने नहीं दिया और काम करने के बाद बचे हुए समय को वहां लगाया.

बता दें कि ऋतु सुहास एक पीसीएस अधिकारी हैं. वर्ष 2003 में इन्होंने पीसीएस एग्जाम पास किया था और अब गाजियाबाद में एडीएम के पद पर तैनात हैं. 2019 में इन्होंने मिसेज इंडिया का खिताब भी अपने नाम करते हुए यह संदेश दिया कि महिलाएं आज भी हर काम और हर क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभा रही हैं. जबकि ऋतु के पति सुहास एलवाई नोएडा के जिलाधिकारी हैं.

बचपन से है ऋतु सुहास को मॉडलिंग का शौक
ऋतु सुहास को बचपन से ही विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेना अच्छा लगता था. प्रशासनिक कार्य की जिम्मेदारी, घर में बच्चों की जिम्मेदारी निभाने के बाद वें अपना समय अपनी रुचियों को देती हैं. किसी प्रोफेशनल मॉडल की तरह ही एडीएम अधिकारी ऋतु सुहास रैंप वॉक पर चलती हैं. इसके अलावा कई फैशन शोज में बतौर शो स्टॉपर भी ऋतु भाग ले चुकी हैं. रैंप वॉक के साथ अक्सर एक संदेश भी जुड़ा होता है. आगरा में आयोजित एक फैशन शो में ऋतु द्वारा खादी उत्पादों को प्रोत्साहित किया गया था.

सवाल : पीसीएस अधिकारी से मॉडल शो में रैंप वॉक पर चलने का सफर कैसे शुरू हुआ ?
जवाब : मैं मानती हूं कि आप अपने पेशे के अलावा भी अपनी एक पहचान बना सकते हैं. आपको अपने अंदर की खूबी पता होनी चाहिए और आप उस पर काम करेंगे तो रिजल्ट जरूर मिलेगा. बस इसी तरीके से मेरा सफर शुरू हुआ.

सवाल : काम का इतना ज्यादा भार होते हुए भी आप कैसे समय निकाल लेती हैं ?
जवाब : मैं अपने काम को प्राथमिकता से करती हूं, उसके बाद घर पर बच्चों की भी जिम्मेदारी होती है. अगर छुट्टी वाले दिन समय मिलता है तो सिनेमा देखने या घूमने की जगह मैं अपना समय खुद की रुचियों में देती हूं.

सवाल : मिसेज इंडिया बनने का एक्सपीरियंस कैसा रहा, क्या चुनौतियां थीं ?
जवाब : मिसेज इंडिया के लिए मुझे बहुत सारा अध्ययन भी करना था. कुछ इंटरव्यूज देख के सीखा भी. इसके अलावा आपको खुद पर काम करने की भी जरुरत होती है.बस मैं प्रयास करती गई और मेहनत सफल हुई.

Tags: Ghaziabad News



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here