Ganesh Chaturthi 2022: मेरठ के मूर्तिकारों का कमाल, गणपति बप्पा मोरया को दिया नया ‘अवतार’

0
66


रिपोर्ट: विशाल भटनागर

मेरठ: कोरोना काल के बाद अबकी बार गणेश चतुर्थी को लेकर लोगों में काफी उत्साह है. छोटी-छोटी गणेश जी की मूर्तियों के साथ-साथ विशाल मूर्तियां भी बाजार में देखने को मिल रही हैं. इनकी लंबाई-चौड़ाई की बात की करें तो 6 फीट तक की हैं. कलाकारों द्वारा भव्य रूप से मूर्ति की सजावट भी की गई है, जो काफी मनमोहक लग रही है. मानों जैसे साक्षात गणेश जी विराजमान हैं.

मूर्तिकार रजत राज के अनुसार, यहां की मूर्तियां मेरठ ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों के लिए भी सप्लाई हो रही हैं. उन्होंने बताया कि अब तक 30 से ज्यादा 6 फीट की मूर्तियां बिक चुकी हैं. वहीं उत्तराखंड, हरियाणा, दिल्ली सहित अन्य स्थानों से भी मूर्तियों के ऑर्डर मिल रहे हैं.

इको फ्रेंडली मूर्ति बनाने पर फोकस
मेरठ के कलाकारों द्वारा अबकी बार चिकनी मिट्टी के माध्यम से इको फ्रेंडली मूर्ति बनाने पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है. ताकि यह मूर्तियां आसानी से गंगा जी में विसर्जित हो जाएं. क्योंकि हर बार देखा जाता है कि बड़ी-बड़ी मूर्तियां तो बना दी जाती हैं लेकिन वह जल में विसर्जित होने में काफी समय लगाती हैं.

सामूहिक रूप से लगाते हैं पंडाल
गणपति बप्पा के प्रति मेरठ के लोगों में भी काफी स्नेह देखने को मिल रहा है. शास्त्री नगर निवासी रिंकू ने बताया कि उनके कॉलोनी के लोग मिलकर गणेश जी का विशाल पंडाल लगाते हैं, जिसमें गजानन को विराजमान करते हैं. इसके लिए उन्होंने मूर्ति का ऑर्डर दे दिया है. जैसे ही मूर्ति बनकर तैयार हो जाएगी. उसके बाद एक विशाल पंडाल लगाया जाएगा. विधि-विधान के साथ गणपति बप्पा की पूजा-अर्चना की जाएगी.

मूर्तिकारों में जगी आस
मूर्ति बनाने वाले कलाकारों का कहना है कि बड़ी-बड़ी मूर्तियों में अच्छा फायदा होता है. ऐसे में अबकी बार जिस तरीके से गणपति बप्पा की मूर्तियों की डिमांड हो रही है. उससे उन्हें भी उम्मीद जग रही है कि रिद्धि सिद्धि के साथ भगवान उनके घर में भी खुशियां लाएंगे.

6 इंच से लेकर 6 फीट तक की मूर्तियां
बाजारों में अबकी बार खासतौर पर मूर्तियों की साइज की बात की जाए तो 6 इंच से लेकर 6 फीट तक की मूर्तियां बाजार में देखने को मिल रही हैं, जिनकी कीमत ₹100 से लेकर ₹25000 तक है.

Tags: Meerut news, Uttar pradesh news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here