Ganesh Chaturthi 2022: लखनऊ में इस बार बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाएगा ईको-फ्रेंडली गणेश उत्सव 

0
36


हाइलाइट्स

25000 से लेकर 40,000 रूपए तक की मूर्ति
2 साल तक कोरोना की वजह से बाजार में रौनक नहीं थी

रिपोर्ट : अंजलि सिंह राजपूत

लखनऊ. लखनऊवासी इस साल ईको-फ्रेंडली गणेश उत्सव मनाएंगे इसको लेकर तैयारियां जोरों पर हैं. इन मूर्तियों को जब विसर्जित किया जाएगा तो गोमती नदी या आसपास की नदियों में इससे पर्यावरण को किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होगा. भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को गणेश चतुर्थी का पावन पर्व मनाया जाता है. इस बार 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी. लखनऊ के सबसे पुराने सआदतगंज के लकड़मंडी बाजार में कई सालों से गणेश उत्सव को धूमधाम से मनाया जाता है. मूर्तिकार यहां पर बड़ी संख्या में कारखानों और घरों में मूर्तियां तैयार कर रहे हैं. दुकानें सज चुकी हैं साथ ही ढोल नगाड़ों और बैंड बाजे के साथ गणपति बप्पा की यात्रा बारात निकालने के लिए भी पूरी तैयारी की जा चुकी है.

लकड़मंडी बाजार में कई सालों से गणपति बप्पा गौरी पुत्र गणेश जी की मूर्तियां तैयार कर रहे राजकुमार ने बताया कि 2 साल तक कोरोना की वजह से बाजार में रौनक नहीं थी. बड़ी मूर्तियां बनाने पर पाबंदी लगी हुई थी, लेकिन इस साल गणेश उत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है. इसको लेकर इस साल उन्होंने 10 फीट तक की मूर्तियां तैयार की हैं.

25000 से लेकर 40,000 रूपए तक की मूर्ति
सबसे महंगी मूर्ति 25000 से लेकर 40,000 रूपए तक की है. वहीं दूसरे दुकानदार जगदीश ने बताया कि 30 अगस्त को पूरा दिन खरीदारों से बाजार गुलजार रहेगा. देर रात तक मूर्तियां बिकेगी. उन्होंने बताया कि इस बार ज्यादा डेकोरेशन वाली और ईको-फ्रेंडली मूर्तियां आई हैं. ताकि इससे पर्यावरण को किसी प्रकार का नुकसान न हो और इसे आसानी से कहीं पर भी विसर्जित किया जा सकता है.

Tags: Ganesh Chaturthi Celebration, Lucknow news, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here