Ghaziabad: गाजियाबाद की प्रदूषण और डेंगू के डबल अटैक से बढ़ी टेंशन, सरकारी अस्‍पतालों के बेड फुल

0
20


रिपोर्ट- विशाल झा

गाजियाबाद. यूपी के गाजियाबाद में खतरनाक श्रेणी के प्रदूषण और बढ़ते डेंगू के मामलों से स्वास्थ्य विभाग में अफरा-तफरी का माहौल है. आलम यह है कि जहरीली हवाओं से बने गैस चेंबर के कारण जिले के 2 बड़े सरकारी अस्पतालों में सांस लेने में परेशानी होने की शिकायत लेकर पहुंचने वाले मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. आंकड़ों की बात करें तो रिकॉर्ड 1800 मरीज सांस लेने में दिक्कत की शिकायत को लेकर अस्पतालों में पहुंच रहे हैं.

गौरतलब है कि मरीजों की लगातार संख्या बढ़ने से अस्पतालों में सभी वार्डों के बेड फुल हो गए हैं. इस कारण एक बेड पर तीन-तीन मरीजों को रखना पड़ रहा है. इस समय गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक 400 के पार है. ऐसे में बुजुर्ग और दमा के मरीजों की हालत खराब होती जा रही है. जिला एमएमजी अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ते देख 164 बेड वाले वार्ड में भी सांस रोगी भर्ती किए जा रहे हैं. वहीं महिला अस्पताल में भी गर्भवती महिलाएं घबराहट, सांस लेने में परेशानी की समस्या के साथ पहुंच रही हैं.

NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए सीएमएस मनोज चतुर्वेदी ने बताया कि एमएमजी की ओपीडी में लगभग 3500 मरीज पहुंच रहे हैं, जिनमें अट्ठारह सौ के करीब सांस के मरीज थे. इन मरीजों को भर्ती करना पड़ रहा है और कई मरीजों को नेबुलाइजर और ऑक्सीजन देनी पड़ रही है. गौर करने वाली बात ये है कि इन मरीजों में अधिकतर खांसी, बुखार, सिरदर्द, बेचैनी की समस्या वाले अधिक आ रहे हैं. अब अगर बात प्रदूषण की करें तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार पंजाब और हरियाणा की तरफ से आ रहे पराली के धुएं ने यह संकट पैदा किया है. प्रदूषण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी उत्सव शर्मा का कहना है कि 2 दिन में हवा की दिशा में बदलाव होगा. जब हवा की दिशा में बदलाव होगा तब पराली के धुएं का असर कम हो जाएगा. ऐसे में राहत की उम्मीद लगाई जा सकती है.

Tags: Air pollution, Dengue alert, Ghaziabad News



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here