Ghaziabad News: उद्योग लगाने के नाम पर गाजियाबाद में जमीन ली, अब इसलिए लटक गई निलंबन की तलवार

0
17


गाजियाबाद. गाजियाबाद में उद्योग लगाने के नाम ली गई 324 औद्योगिक प्लॉटों (Plots) का आवंटन रद्द हो सकता है. उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (Uttar Pradesh State Industrial Development Authority) ने गाजियाबाद के 324 प्लॉट मालिकों को नोटिस भेजा है. इन उद्यमियों पर आरोप है कि इन्होंने गाजियाबाद औद्योगिक विकास प्राधिकरण से जमीन लेकर उद्योग शुरू नहीं किए हैं. प्राधिकरण ने नोटिस में कहा है कि अगर आवंटित इन भूखंडों पर दिसंबर तक उद्योग नहीं लगाए तो फिर निलबंन की कार्रवाई शुरू हो जाएगी.

उद्योग प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा बीते पांच दशकों में गाजियाबाद में एक दर्जन से अधिक औद्योगिक क्षेत्र विकसित किए गए हैं. पिछले दिनों प्राधिकरण के सर्वे में पाया गया कि 324 प्लॉट्स पर अभी तक किसी भी प्रकार का कोई उद्योग धंधा शुरू नहीं किया गया है. ऐसे में प्राधिकरण ने निर्णय लिया है कि जमीन लेकर उद्योग-धंधे नहीं लगाने वाले उद्यमियों पर अब कार्रवाई की जाएगी.

प्राधिकरण ने कहा है कि 10 साल बाद भी इन भूखंडों पर अभी तक उद्योग नहीं लगाया जाना चिंता का विषय है.

उद्योग लगाने के नाम पर ली थी जमीन
प्राधिकरण ने कहा है कि 10 साल बाद भी इन भूखंडों पर अभी तक उद्योग नहीं लगाया जाना चिंता का विषय है. इन भूखंडों पर उद्योग नहीं लगने से विभाग को हर साल लाखों रुपये रखरखाव शुल्क का नुकसान होता है. हालांकि, कई भूखंडों पर आधा-अधूरा निर्माण कर कल-कारखाने संचालित किए जाते हैं. विभाग को इसकी सूचना नहीं दी जाती है.

ये भी पढ़ें: सत्येंद्र जैन मामले में LNJP अस्पताल प्रशासन क्यों सवालों के घेरे में? ED का आरोप- मशीन बंद, हाथ में कैनुला नहीं और पत्नी कमरे में कैसे थीं मौजूद

गौरतलब है कि गाजियाबाद में 25 हजार से अधिक लघु एवं सुक्ष्म उद्योग धंधे चल रहे हैं. इन उद्योग धंधों से लाखों लोगों को रोजगार तो मिलता ही है यूपी सरकार को राजस्व भी भारी मात्रा में प्राप्त होता है. ऐसे में गाजियाबाद इंडस्ट्रीज फेडरेशन ने भी 324 खाली भूखंडों के मालिक से जल्द से जल्द उद्योग लगाने की अपील की है. दिसंबर तक अगर उद्योग धंधा स्थापित हो गया तो फिर कार्रवाई से बच जाएंगे.

Tags: Delhi-NCR News, Ghaziabad News, Industries, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here