Gyanwapi Case:ज्ञानवापी मंदिर या मस्जिद? 31 साल पहले 3 हिन्दू पक्षकारों ने किया केस,जानिए अब क्यों मचा है हंगामा

0
48


रिपोर्ट-अभिषेक जायसवाल,वाराणसी

वाराणसी के काशी विश्वनाथ- ज्ञानवापी मामले (Kashi Vishwanath Gyanwapi Case) में अधिवक्ता कमीशन की कार्रवाई पर बीते दो दिनों से हंगामा मचा हुआ है.हंगामे के बीच शुक्रवार को विवादित स्थल की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी हुई. फिर शनिवार को मुस्लिम पक्ष के वकील ने अधिवक्ता कमिश्नर को हटाने की मांग को लेकर वाराणसी (Varanasi) कोर्ट में याचिका दाखिल की.मामले की गम्भीरता को समझते हुए कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई की.

सुनवाई के बाद कोर्ट ने मुस्लिम पक्ष की शिकायत पर 9 मई को अधिवक्ता कमिश्नर अजय कुमार मिश्रा और हिन्दू पक्ष से इस मामले में जवाब मांगा है.कोर्ट में सुनवाई के बाद दोनों पक्ष कड़ी सुरक्षा इंतजाम के बीच ज्ञानवापी पहुंचे.लेकिन ज्ञानवापी के जिस मुद्दे को लेकर आज हंगामा मचा है.उस मामले में 31 साल पहले वाराणसी के तीन शख्स ने वाराणसी कोर्ट में याचिका दाखिल की थी.

1991 में दायर हुई थी याचिका
काशी विश्वनाथ ज्ञानवापी मुद्दे को लेकर 1991 में प्राचीन मूर्ति स्वयंभू लार्ड विशेश्वर की ओर से बतौर वादी सोमनाथ व्यास,रामरंग शर्मा और हरिहर पांडेय ने वाराणसी कोर्ट में याचिका दाखिल की थी.वाराणसी कोर्ट में इस याचिका पर सुनवाई के करीब 2 साल बाद मुस्लिम पक्ष के पक्षकारों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटा और प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट का हवाला दिया जिसके बाद हाईकोर्ट ने इस मामले में रोक लगा दी थी.

2021 में पुरातात्विक सर्वेक्षण के हुआ था आदेश
हिन्दू पक्ष के पक्षकार हरिहर पांडेय ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के स्टे ऑर्डर पर जारी एक आदेश के बाद इस मामले में 2019 में वाराणसी कोर्ट में पुनः सुनवाई शुरू हुई. दर्जनों तारीखों पर सुनवाई के बाद अप्रैल 2021 में कोर्ट ने इस मामले में पुरातात्विक सर्वेक्षण के आदेश दिया लेकिन सर्वे से पहले ही हाईकोर्ट ने फिर इस मामले में कार्यवाही पर रोक लगा दी.

ये है हिन्दू पक्ष का दावा
ज्ञाववापी को लेकर हिन्दू पक्ष का दावा है कि ये बाबा विश्वनाथ का प्राचीन मन्दिर है जिसको आज से करीब 350 साल पहले औरंगजेब ने तोड़वाकर मस्जिद बनवाई थी.आज भी मस्जिद के दीवारों पर इसके अवशेष मौजूद हैं.लेकिन मुस्लिम पक्षकार हिन्दू पक्षकारों के तमाम दावों को गलत बताते हैं.इस विवाद को लेकर पिछले 31 सालों से वाराणसी कोर्ट में सुनावई चल रही है.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here