Hallmarking सेंटर खोलकर कमाई करने का बड़ा मौका, घर बैठे कर सकते हैं अप्लाई

0
12


नई दिल्ली. मोदी सरकार (Modi Government) ने ज्वेलर्स (Jwellers) को पुराना स्टॉक बेचने के लिए 1 साल का वक्त दिया था जिसे बढ़ा कर अब जून 2021 कर दिया गया है. पहले ज्वेलर्स को 15 जनवरी 2021 तक पुराना स्टॉक बेचने का फरमान सुनाया था. बता दें कि अगले साल देश में जून महीने से सोने (Gold) की हॉलमार्किंग (Hallmarking) अनिवार्य हो जाएगी. अब 14, 18 और 22 कैरेट सोने में हॉलमार्किंग अनिवार्य हो जाएगी. इसके लिए सरकार ने अब तक 234 जिलों में 921 एसेयिंग एवं हॉलमार्किंग (Assaying & Hallmarking) केन्द्र खोल दिए हैं. वहीं जून 2021 तक मोदी सरकार देश के हर जिलों में हॉलमार्किंग सेंटर्स खोलने का खाका तैयार किया है.

देश के हर ब्लॉक में खुलेंगे हॉलमार्किंग सेंटर

उपभोक्ता एवं खाद्य मंत्री रामिविलास पासवान (Consumer Affairs Minister Ramvilas Paswan) का कहना है कि सरकार अगले कुछ सालों में देश के हर ब्लॉक में हॉलमार्किंग सेंटर खोलेगी. इससे ज्वेलर्स को अब BIS में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके साथ ही जो भी व्यक्ति हॉलमार्किंग सेंटर खोलना चाहते हैं वह www.manakonline.in पर जा कर अप्लाई कर सकते हैं. इससे देश में लाखों लोगों को रोजगार मिल सकता है.

हॉलमार्क सेंटर के लिए रजिस्ट्रेशन-जो भी व्यक्ति हॉलमार्किंग सेंटर खोलना चाहता है उसे www.manakonline.in पर जा कर अप्लाई करना होगा. ज्वलर्स Hallmarking केंद्रों की मान्यता और मान्यता के नवीनीकरण लिए भी ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं.

इसके साथ देश के हर ज्वेलर्स को भी रजिस्ट्रेशन कराना होगा. ज्वेलर्स को अब BIS में रजिस्ट्रेशन कराना होगा. इसके जरिए ज्वेलरों के पंजीकरण और पंजीकरण के नवीनीकरण की ऑनलाइन प्रणाली की शुरुआत की गई.

ग्राहक सोना खरीदते समय उसकी क्वालिटी पर जरूर ध्यान देते हैं.

 ज्वेलर्स और शुद्धता की जांच हॉलमार्किंग केंद्रों पर होगी

बीते दिनों ही पासवान ने ज्वेलर्स और शुद्धता जांच सह हॉलमार्किंग केंद्रों के Online Registration के लिए एक नया मॉड्यूल लॉन्च किया था. इसके जरिए ज्वेलरों के पंजीकरण और पंजीकरण के नवीनीकरण की ऑनलाइन प्रणाली की शुरुआत की गई थी. इसी के साथ सोने के जेवरातों की एसेयिंग एवं हॉलमार्किंग (Hallmarking) केंद्रों की मान्यता और मान्यता के नवीनीकरण लिए भी ऑनलाइन प्रणाली लान्च की गई. अब आभूषण कारोबारी ऑनलाइन ही पंजीकरण करवा सकते हैं.

गड़बड़ी की शिकायतों का शीघ्र निपटान करना सहज होगा

हॉलमार्किंग केंद्र इससे आवेदन पत्रों की प्रक्रिया की मॉनिटरिंग वास्तविक समय के आधार पर कर पाना संभव होगा. ऑनलाइन प्रणाली से ज्वैलरी की हॉलमार्किंग में गड़बड़ी की शिकायतों का शीघ्र निपटान करना सहज होगा. बीआईएस एसेयिंग और हॉलमार्किंग केंद्रों के कार्यप्रवाह के स्वचालन के मोड्यूल पर भी काम कर रहा है, जिसके दिसंबर 20 तक तैयार होने की आशा है.

ये भी पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत केस ने लिया नया मोड़, अब जांच की जिम्मेदारी इस बड़े IPS अधिकारी पर

बीआईएस के कार्य की समीक्षा करते हुए पासवान ने कहा कि हॉलमार्किंग की संख्या बढाने की आवश्यकता को अनुभव किया गया है. इसलिए उन्होंने शाखा कार्यालयों में अतिरिक्त जनशक्ति को मंजूरी दी. उन्होंने आशा व्यक्त की इन दो ऑनलाइन प्रणालियों के शुरू होने से ज्वेलर्स और उद्यमी सरकार के उपभोक्ताओं को प्रमाणित गुणता और शुद्धता के स्वर्ण आभूषण उपलब्ध कराने के प्रयासों से ज्वैलर्स और संबंधित उद्यमी भी जुड़ सकेंगे.

Tags: Business news in hindi, Gold, Gold business, Modi government, Unemployment



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here