Himachal News: सरकार के फरमान और कोरोना की दूसरी लहर ने तोड़ी पर्यटन कारोबार की कमर!

0
16


शिमला में बड़ी संख्या में अब टूरिस्ट ने बुकिंग कैंसिल की है. (File Photo)

Tourism in Himachal: शुक्रवार से लागू हुए नए आदेश के तहत, प्रदेश में अत्याधिक कोविड मामलों वाले राज्यों से सड़क, हवाई जहाज या ट्रेन से आने वाले पर्यटकों को कोविड-निगेटिव रिपोर्ट लेकर आना होगा. इस एडवायजरी के बाद हिमाचल का टूरिज्म कारोबार ठप पड़ गया है.

शिमला. कोरोना महामारी को ध्यान में रखकर जारी हिमाचल सरकार के एक फरमान ने राज्य के टूरिज्म कारोबार को ठप कर दिया है. टूरिज्म इंडस्ट्री स्टेक होल्डर्स एसोसिएशन का मानना है कि कोरोना के चलते लगातार दूसरी साल पर्यटन कारोबार डूबने की कगार पर है. सरकार की ओर से 7 राज्यों से हिमाचल आने वाले पर्यटकों को कोविड नेगेटिव रिपोर्ट लाने की एडवाइजरी जारी होने के बाद से होटल और पर्यटन से संबंधित अन्य कारोबार ठप हो गया है. बता दें कि हिमाचल प्रदेश की आर्थिकी में पर्यटन उद्योग का खासा योगदान है और लाखों लोग की कमाई का जरिया भी टूरिज्म ही है. पर्यटन का हिमाचल की जीडीपी में लगभग 8 फीसदी की हिस्सेदारी है.

Youtube Video

पर्यटन व्यवसाय की हालत दयनीय

आगे पढ़ें

सरकार से एडवायजरी वापस लेने की मांग

जो बिज़नेस ट्रैवलर बाहरी राज्यों से हिमाचल में सर्विस प्रोवाइड करने आ रहे थे, वे भी अब बिना नेगेटिव रिपोर्ट के नही आ पाएंगे. इस पूरी स्थिति को देखते हुए हुए एसोसिएशन ने सरकार से इस एडवाइजरी को वापस लेने की मांग की है. इसके अलावा होटलों और अन्य पर्यटन ईकाइयों से बिजली के बिलों पर लगने वाले डिमांड चार्जिज को ख़त्म कर पानी, कूड़े के बिल, बार लाइसेंस फीस और प्रॉपर्टी टैक्स के बिलों में रियायत देने की मांग समेत कई मांगे रखी हैं.

सरकार से एडवायजरी वापस लेने की मांग

आगे पढ़ें

बड़ी संख्या में नौकरी जाने का आशंका

एसोसिएशन ने मांग की है कि पर्यटन कारोबार को डूबने से बचाने के लिए सरकार सभी मांगो को पूरा करे. अगर ऐसा नही हुआ तो होटल कारोबारी रास्ते पर आ जाएंगे, बड़ी संख्या में कर्मचारियों की नौकरियां जाने की संभावना है. मोहिंद्र सेठ ने कहा कि पूरी स्थिति को देखने हुए सरकार एक विशेष आर्थिक पैकेज जारी करे.

बड़ी संख्या में नौकरी जाने का आशंका

आगे पढ़ें

क्या है सरकार की एडवायजरी

शुक्रवार से लागू हुए नए आदेश के तहत, प्रदेश में अत्याधिक कोविड लोड और मामलों वाले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात, राजस्थान और पंजाब से सड़क, हवाई जहाज या ट्रेन से आने वाले पर्यटकों को आने से पहले 72 घंटे के अंदर आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट लाने की सलाह दी गई है. हालांकि, हिमाचलियों के लिए छूट है. वह बिना रिपोर्ट के आ सकते हैं.

क्या है सरकार की एडवायजरी

आगे पढ़ें

<!–

–>
<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here