Himachal Politics congress MLA Vikramaditya singh attack bjp on swami prashad muarya issue hpvk

0
21


शिमला. उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले नेताओं का पलायन शुरू हो गया है. ऐसे में नेता और सीटिंग विधायक पार्टी छोड़कर दूसरे दलों में जा रहे हैं. हाल ही में योगी कैबिनेट से स्वामी प्रसाद मोर्या ने इस्तीफा दे दिया और समाजवादी पार्टी में जाने की चर्चाएं होने लगी. अखिलेश यादव के साथ उनकी तस्वीर भी सामने आई. बुधवार को धार्मिक मामले में नफरत फैलाने के आरोप में उनके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी होता है. ऐसे में इस मामले पर हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक और पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने चुटकी ली और भाजपा पर तंज कसा है.

विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया पर मामले को लेकर कहा, 2014 में स्वामी प्रसाद मौर्य नफ़रत भरा भाषण देते हैं. साल 2015 में भाजपा में शामिल होकर मंत्री बनते हैं. 2015-2022 तक सात साल तक वॉशिंग मशीन में सफ़ाई करवाते हैं. 2022 में भाजपा छोड़ने के एक दिन बाद “नफ़रत वाले भाषण” पर उनके ख़िलाफ़ केस दर्ज कर दिया जाता है. इसका मतलब है कि भाजपा में जाकर निरमा से ज़्यादा सफ़ेदी पाओ.

विक्रमादित्य सिंह के एचपीयू से सवाल

उधर, हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में तीन छात्रों को निष्कासित करने के मामले पर विक्रमादित्य सिंह ने सवाल उठाए हैं. विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि NSUI से सम्बंधित छात्रों को निष्कासित कर देना, वह भी केवल मात्र छात्रों के लिए पुस्तकालय का ना खोलने के विरोध करने पर बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है. बिना किसी कारण बताओ नोटिस के एकतरफा कार्यवाही करना विश्वविद्यालय की गरिमा को ठेस पहुँचाना हैं, जो इस मौजूदा प्रशासन द्वारा खुले आम किया जा रहा है. हम इन युवा साथियों के साथ खड़े हैं और विश्वविद्यालय का राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए.

आपके शहर से (शिमला)

हिमाचल प्रदेश
हिमाचल प्रदेश

Tags: BJP Congress, Himachal pradesh, Shimla News, Shimla Tourism



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here