illegal channelization takes another life in kotdwar uttarakhand villagers angry

0
15


कोटद्वार. पौड़ी ज़िले की नदियों में चल रहा अनियमित चेनेलाइजेशन लोगों की जान पर भारी पड़ रहा है. ताज़ा मामला सुखरौ नदी का है, जहां चेनेलाइजेशन के चलते बने गहरे गड्ढे की वजह से एक टीनेजर पानी में डूब गया. कोटद्वार भाबर की नदियों में खनन के कारण गहरे गड्ढे बन चुके हैं, जो अब लगातार बच्चों की मौतों का कारण बन रहे हैं. बुधवार दोपहर जब ऐसी एक और दुर्घटना हुई, तो स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने नदी किनारे खनन करने वालों पर पथराव तक कर डाला. इस पूरे घटनाक्रम के बाद चेनेलाइज़ेशन का अवैध कारोबार केंद्र में आ गया है.

बुधवार दोपहर सुखरौ नदी के गड्ढे में फंसने से 15 वर्षीय प्रियांशु की मौत हो गई. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस और एसडीआरएफ की टीम ने सवा तीन घंटे की मशक्कत के बाद शव को बाहर निकाला. गौरतलब कि इससे पहले 7 जून को खोह नदी में ऐसे ही गड्ढे में डूबने से चार बहनों के इकलौते भाई की मौत हो गई थी. इससे पहले भी खोह नदी में दो बच्चे डूब गए थे. लगातार जारी इस सिलसिले में ताज़ा मामले ने अवैध खनन और सिस्टम पर सवालिया निशान लगाया है.

ये भी पढ़ें : देवस्थानम एक्ट पर पूर्व CM त्रिवेंद्र सिंह रावत का बड़ा बयान, ‘पब्लिक नहीं, ये चंद लोगों की डिमांड’

मृतक प्रियांशु के दोस्त विजय ने बताया कि प्रियांशु की चप्पल नदी में बही तो वह चप्पल निकालने नदी में चला गया, लेकिन नदी में बन गए गड्ढे की गहराई का उसे अंदाज़ा नहीं था इसलिए फंसकर डूब गया. आसपास के लोगों की सूचना के बाद पुलिस और एसडीआरएफ की टीमों ने सर्च अभियान शुरू किया. बरामद शव को पुलिस ने राजकीय बेस अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया. वहीं मामले से गुस्साए लोगों ने खननकारियों पर पथराव कर चेनेलाइजेशन का काम रोकने की मांग की. इस मामले में, कोटद्वार एसडीएम योगेश मेहरा ने मामले की जांच के आदेश दिए. एसडीएम ने कहा कि नियमों के विरुद्ध चेनेलाइजेशन की जांच की जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here