Jhansi: खाद की किल्लत से बुंदेलखंड के किसान परेशान, फसल बर्बाद होने का सता रहा ‘डर’

0
8


रिपोर्ट- शाश्वत सिंह

झांसी. यूपी के झांसी में एक बार फिर रबी की फसलों के लिए किसानों को खाद की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है. किसान खाद के लिए वितरण केंद्र के सामने दिन भर बैठे रहते हैं. घंटों इंतजार करने के बाद भी उन्हें खाद नहीं मिल पाती. दरअसल डीएपी खाद के लिए किसान सुबह 4 बजे से लाइन में लग जाते हैं, लेकिन 10 बजे जब वितरण केंद्र खुलता है तो उनसे कहा जाता है कि डीएपी खाद खत्म हो गई है. कई बार केंद्र से खाद ना पहुंचने की बात कह दी जाती है.

झांसी के मऊरानीपुर इलाके के किसान बेहद परेशान हैं. एक बुजुर्ग किसान ने कहा कि वह सुबह 5 बजे से लाइन में खड़े हैं, जब तक उनका नंबर आया तो कह दिया गया की खाद खत्म हो गई है. किसान ने कहा कि खेतों की नमी खत्म होती जा रही है. ऐसे में अगर समय से खाद नहीं मिली तो पूरी फसल बर्बाद हो जाएगी. एक अन्य किसान ने कहा कि वह पिछले 8 दिनों से वह खाद लेने के लिए यहां आ रहे हैं, लेकिन हर बार खाद उपलब्ध ना होने की बात कह दी जाती है. खाद ना होने की वजह से किसान बुआई नहीं कर पा रहा हैं.

हर साल होती है किल्लत
किसान नेता शिव नारायण ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार दोनों लगातार यह दावा करते रहते हैं कि किसानों को खाद की कमी नहीं होगी, लेकिन हकीकत में किसानों को खाद मिल ही नहीं पाती. गौरतलब है कि पिछले कुछ सालों से हर सीजन में खाद की किल्लत के मामले सामने आते हैं. इसकी वजह से बुंदेलखंड के कई किसान आत्महत्या भी कर चुके हैं. हालांकि इस मामले में जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने खाद वितरण से जुड़े चार लोगों को लापरवाही के लिए निलंबित तो कर दिया है. इसके बावजूद किसानों को खाद की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है.

Tags: Bundelkhand fertilizer crisis, Jhansi news, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here