Jhansi: रेलवे कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, अब बिना रेफ़र निजी अस्पतालों में करा सकेंगे मुफ्त इलाज 

0
18


शाश्वत सिंह

झांसी. रेलवे कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है. अब वो निजी अस्पतालों में बिना रेफर के अपना इलाज करवा सकेंगे, और वो भी बिल्कुल मुफ्त. रेलवे ने अपने वर्तमान तथा सेवानिवृत्त (रिटायर) कर्मचारियों के लिए यह सुविधा शुरू की है. इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए कर्मचारियों को अपना उम्मीद कार्ड बनवाना होगा. उम्मीद कार्ड (UMID- Unique Medical Identification Card) की मदद से रेलवे कर्मचारी बिना किसी रेफर लेटर के भी सीधे निजी अस्पतालों में जाकर इलाज करवा सकते हैं. लेकिन, इस सुविधा का लाभ सिर्फ इमरजेंसी मामलों में लिया जा सकता है.

रेलवे बोर्ड ने अपने कर्मचारियों और उनके परिवारजनों को स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए देश के कई प्राइवेट अस्पतालों से अनुबंध किया है. इस अनुबंध के तहत रेलकर्मी गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज मुफ्त में करवा सकते हैं. अगर तबियत अचानक खराब हो जाती है तो निजी अस्पतालों में इलाज करवा सकते हैं. इसके लिए रेफर लेटर की आवश्यकता नहीं होगी.

इन निजी अस्पतालों में मिलेगी सुविधाएं
निर्मल हॉस्पिटल, झांसी
लाइफ लाइन हॉस्पिटल, झांसी
झांसी आर्थोपेडिक एंड रिसर्च सेंटर, झांसी
विनायक हॉस्पिटल, झांसी
कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, ग्वालियर
बॉस्टन हॉस्पिटल, ग्वालियर
शीतल शाहा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस हॉस्पिटल
ग्वालियर इंद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल, नई दिल्ली
दिल्ली हार्ट एंड लंग्स हॉस्पिटल, नई दिल्ली
मेट्रो हॉस्पिटल, फरीदाबाद
मैक्स हॉस्पिटल, नई दिल्ली
बत्रा हॉस्पिटल, तुगलकाबाद
होमी भाभा कैंसर इंस्टीट्यूट, वाराणसी

रेलकर्मियों को होगा फायदा
झांसी रेल मंडल के जनसंपर्क अधिकारी मनोज कुमार सिंह ने बताया कि रेलकर्मियों को आपात स्थिति में स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए UMID कार्ड की सुविधा शुरू की गई है. रेलकर्मियों और उनके आश्रित आपातकाल की स्थिति में अपना इलाज करवा सकते हैं. रेलवे के अनुबंधित अस्पतालों में उन्हें सभी सुविधाएं मुफ्त दी जाएंगी.

Tags: Free Treatment, Indian Railways, Jhansi news, Private Hospital, Up news in hindi



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here