Just before up assembly elections niranjani akhada is planning for dharm sansad nodnc

0
12


अलीगढ़. चुनावी माहौल में मुद्दे बनाए जाते हैं, ताकि राजनीतिक फायदे उठाए जा सकें. ऐसे में यदि कोई ऐसा सम्मेलन हो जिससे राजनीतिक माहौल और गर्म हो जाए तो फिर पार्टियों को और क्या चाहिए? प्रदेश में ​विधानसभा चुनाव की घोषणा हो चुकी है और लगातार टिकटों के बंटवारे पर राजनीतिक चर्चाएं हो रही हैं. ऐसे में निरंजनी अखाड़े की ओर से 22 जनवरी को धर्म संसद किए जाने की घोषणा की गई है. दूसरी और प्रदेश में पहले चरण का चुनाव 10 फरवरी को होने वाला है. जाहिर है उत्‍तर प्रदेश विधानसभा (UP Assembly Elections 2022) के पहले चरण के चुनाव से पहले धर्म संसद के आयोजन से प्रदेश की राजनीति भी गरमा सकती है. बता दें कि हरिद्वार धर्म संसद में विवादित बयान देने को लेकर हाल में ही जितेंद्र नारायण त्‍यागी उफ वसीम रिजवी को गिरफ्तार किया गया है.

जानकारी के अनुसार, 22 जनवरी को अलीगढ़ में होने जा रही इस धर्म संसद का आयोजन निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर साध्वी अन्नपूर्णा की ओर से किया जा रहा है. इस धर्म संसद में संतों के साथ पूरे हिंदू समाज को आमंत्रित किया गया है. साथ ही हर एक को अपना विचार रखने की स्वतंत्रता भी दी गई है. यह धर्म संसद गांधी पार्क क्षेत्र के रामलीला मैदान में 22 और 23 जनवरी को आयोजित की जाएगी.

गौरतलब है कि पिछले दिनों हरिद्वार में हुई धर्म संसद के बाद काफी बवाल कटा था. हेट स्पीच के कारण सोशल मीडिया पर भी इस धर्म संसद को लेकर आलोचनाएं हुई थीं. इसके बाद हाल ही मुस्लिम धम के लोगों ने भी धर्म संसद आयोजित कर काफी उत्तेजित बयान दिए थे. ऐसे में चुनाव से ठीक पहले इस तरह के आयोजन चुनावी माहौल को गर्म करने का काम करेंगे. यहां से यदि कोई विवादित बयान दिया जाता है तो निश्चित तौर पर वह चुनावी मुद्दा बनेगा. चूंकि यह सनातन धर्म पर आधारित होगा तो यहां से भाजपा को सपोर्ट किए जाने की पूरी कोशिशें की जाएंगी.

प्रदेश में पहले चरण के चुनाव 10 फरवरी का होंगे. इसके बाद 14 फरवरी, 20 फरवरी, 23 फरवरी, 27 फरवरी, 3 मार्च और 7 मार्च को मतदान होंगे. चुनावी नतीजे 10 मार्च को घोषित होंगे.

आपके शहर से (अलीगढ़)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: 2022 Assembly Elections, UP Chunav 2022



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here