Kejriwal government in action against pollution entrusted responsibility to the departments Gopal rai nodrss

0
30


नई दिल्ली. दिल्ली सरकार प्रदूषण (Pollution) को लेकर एक्शन में आ गई है. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने प्रदूषण के खिलाफ विंटर एक्शन प्लान (Winter Action Plan) तैयार करने के लिए सभी विभागों को निर्देश दिए हैं. मंगलवार को गोपाल राय ने सभी संबंधित विभागों के साथ समीक्षा बैठक की. इस बैठक में पर्यावरण मंत्री ने सभी विभागों को 21 सितंबर तक अपनी-अपनी कार्य योजना बनाकर पर्यावरण विभाग को सौंपने का निर्देश दिया है. गोपाल राय ने बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में कहा, ‘सभी विभागों को निर्धारित 10 फोकस बिंदुओं पर अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है, जिसके अनुसार हम दिल्ली सरकार का विंटर एक्शन प्लान तैयार करेंगे. साथ ही जमीनी स्तर पर काम करने वाले इंजीनियर, एई और ठेकेदारों को प्रशिक्षण देकर उन्हें सरकार के जारी दिशा-निर्देशों का पालन कराने के लिए संवेदनशील बनाया जाएगा. इसको लेकर जल्द ही केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव से मिलेंगे. केंद्रीय पर्यावरण मंत्री को पराली पर बायो डि-कंपोजर के प्रयोग को लेकर आई थर्ड पार्टी ऑडिट रिपोर्ट सौंपेंगे और उनसे अन्य राज्यों में लागू कराने की मांग करेंगे.

एक्शन प्लान बनाने के लिए यह जिम्मेदारी दी गई
दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने विंटर एक्शन प्लान को लेकर सभी संबंधित विभागों के साथ संयुक्त बैठक की. इस बैठक में सभी विभागों को विंटर एक्शन प्लान तैयार करने को लेकर जिम्मेदारियां सौंपी गई. इस बैठक में तीनों एमसीडी, एनडीएमसी, कैंटोनमेंट बोर्ड, डीडीए, सीपीडब्ल्यूडी, पीडब्ल्यूडी के साथ-साथ ट्रैफिक पुलिस, ट्रांसपोर्ट विभाग, पर्यावरण विभाग, विकास विभाग के सभी उच्च अधिकारी मौजूद रहे.

दिल्ली सरकार ने प्रदूषण की समस्या को दूर करने के लिए कार्रवाई को और तेज कर दिया है. (Image- Shutterstock)

21 सितंबर तक एक्शन प्लान तैयार कर अधिकारियों को देना होगा
बैठक के बाद गोपाल राय ने कहा, ‘बैठक का मकसद दिल्ली के अंदर प्रदूषण के खिलाफ इस जंग में संयुक्त कार्य योजना का निर्माण करना है. हमने अलग-अलग विभागों के लिए विशिष्ट कार्य दिए हैं. जिस पर सभी विभागों को 21 सितंबर तक अपना एक्शन प्लान बना कर पर्यावरण विभाग को सौंपना है. जिसके अनुरूप हम सरकार का विंटर एक्शन प्लान तैयार करेंगे.

पराली की समस्या से ऐसे निपटेगी दिल्ली सरकार
पर्यावरण मंत्री ने कहा कि दिल्ली के अंदर पराली की समस्या से निपटने के लिए विकास विभाग को एक्शन प्लान बनाने के लिए जिम्मेदारी दी गई है. विकास विभाग के अंतर्गत कृषि विभाग आता है. विभाग से पूछा गया है कि दिल्ली के अंदर पैदा होने वाली पराली से निपटने के लिए इस साल टाइम लाइन और एक्शन प्लान क्या होगा? वहीं, धूल प्रदूषण रोकने के लिए तीनों एमसीडी, कंटोनमेंट बोर्ड, एनडीएमसी, डीडीए पीडब्ल्यूडी, सीपीडब्ल्यूडी, सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग को जिम्मेदारी गई है.

pollution, environment minister, gopal rai, meeting, action plan, timeline, delhi state government, प्रदूषण, दिल्ली सरकार, दिल्ली के पर्यावरण मंत्री, गोपाल राय प्रदूषण के खिलाफ विंटर एक्शन प्लान, पर्यावरण विभाग, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव, पराली पर बायो डि-कंपोजर,

सर्दियों में दिल्‍ली में बढ़ जाता है वायु प्रदूषण. (File pic)

ये भी पढ़ें: कोरोना काल के बाद क्या दिल्ली के प्राइवेट स्कूलों से सरकारी स्कूलों की तरफ छात्रों का हो रहा है पलायन?

दिल्ली सरकार ने सभी निर्माण एजेंसियों को खासतौर से चार बिंदुओं पर अपना एक्शन प्लान बनाने के लिए लक्ष्य दिया गया. पहला, डस्ट सबमिशन केमिकल का प्रिक्योरमेंट करने का एक्शन प्लान. दूसरा, मैकेनिकल डोर स्वीपिंग का एक्शन प्लान. तीसरा, जो यह मशीनें धूल को खींचती हैं, उसके डिस्पोजल का एक्शन प्लान. चौथा, हमने इस बार सभी विभागों को विशेष कार्य दिया है कि हर विभाग जमीन पर काम करने वाले अपने जूनियर इंजीनियर, एई और ठेकेदारों संवेदनशील बनाने और उनके माइंड सेट को बदलने करने का काम करें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here