Lucknow के इस University में जब डिप्टी प्रॉक्टर ने बीटेक छात्र को जमकर पीटा, मचा हंगामा

0
36


लखनऊ. राजधानी लखनऊ (Lucknow) में बीते मंगलवार को डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (AKTU) में जमकर हंगामा हुआ. आरोप है कि विश्वविद्यालय परिसर बीटेक द्वितीय वर्ष के एक छात्र को डिप्टी प्रॉक्टर ने रोड पर जमकर पिटाई कर दी. एकेटीयू के बीटेक सिविल इंजीनियरिंग के द्वितीय वर्ष के छात्र के साथ हुई मारपीट अब हंगामे में बदल गई हैं. छात्र के परिजनों ने सीसीटीवी देखने की मांग की है. फिलहाल घटना की जांच जारी है, वहीं छात्रों के परिजनों में आक्रोश देखा जा सकता है.

दरअसल, एकेटीयू के घटक संस्थान आईईटी में रात्रि 8:00 बजे के बाद छात्राओं का हॉस्टल से निकलने के आदेश है. जिसको सुनिश्चित कराने का जिम्मा संबंधित होस्टल के वार्डन का होता है. किंतु मंगलवार को नजारा इसके बिल्कुल विपरीत था. छात्र एवं छात्राओं का एक समूह रात में 9:00 बजे के आसपास कैंपस में घूम रहा था, जिसको लेकर छात्रों के बीच हो हल्ला चालू था. इसी बीच कैंपस में रहने वाले एक परिवार जो आईईटी में सिस्टम मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं. अभिषेक नागर ने छात्रों के द्वारा हूटिंग करने को लेकर नाराजगी व्यक्त करते हुए चीफ वार्डन नीलम श्रीवास्तव को फोन कर छात्रों के प्रकरण से अवगत कराया.

रात भर कैंपस में चलता रहा हंगामा
क्योंकि रात में 8:00 बजे के बाद छात्राएं हॉस्टल से बाहर नहीं निकल सकती. ऐसे में 9:00 बजे भी छात्राएं कैंपस में टहल रही थी जिसको देखकर चीफ वार्डन नीलम श्रीवास्तव ने तत्काल प्रॉक्टोरियल बोर्ड व वार्डन को इस बाबत सूचना दी. मौके पर पहुंचे डिप्टी वार्डन धनंजय सिंह मामले को बिना समझे सिंघम अवतार में रोड पर दौड़ रहे एक छात्र को दौड़ाने लगे, उसको पकड़कर फील्ड पर गिरा लेते हैं जिसमें उनका साथ बखूबी डॉ अरुण तिवारी हेड मैकेनिकल डिपार्टमेंट देते हैं. छात्र को गिरा कर बाहुबली का रूप लेते हुए धनंजय सिंह द्वारा कोहनी, लात घूंसे व मुक्के से मारते हुए छात्र को चित कर दिया जाता है. जिससे छात्र को अंदरूनी चोट पहुंचती है.

सीसीटीवी फुटेज दिखाने की मांग
छात्र के द्वारा इस मामले से जब अपने परिवार को अवगत कराया गया तो उन्होंने इसकी शिकायत सिक्योरिटी इंचार्ज डॉ डी. एस यादव से की. परिजनों द्वारा उन्हें छात्र को लगी हुई चोट दिखाई गयी और सीसीटीवी फुटेज देखने की मांग की. साथ ही साथ आरोपी शिक्षकों पर कार्यवाही की भी बात की गई.
मामले पर जब निदेशक आईईटी डॉक्टर विनीत कंसल से बात की गई तो उन्होंने बताया मामले की जांच चल रही है. अभी एक पक्ष का ही मामला सामने आया है. मामले की पूरी जानकारी कर कार्यवाही की जाएगी.

छात्र को लगी अंदरूनी चोटें
आईटी के कुलसचिव प्रदीप बाजपेई से जब इस बाबत पूछा गया कि वीसी व निदेशक के आवास से चंद कदमों की दूरी पर नियमों को ताक पर रखकर छात्र 9 बजे कैंपस में कैसे टहल रहे थे? मामले पर कस्टोडियन आईईटी कुलसचिव प्रदीप बाजपेई ने अपने आप को अनभिज्ञ बताया. सिक्योरिटी इंचार्ज प्रोफेसर डीएस यादव ने स्पष्ट किया कि छात्र के गले और पीठ पर नाखून के निशान हैं. छात्र को चोटें आई हैं हम इस बात से मना नहीं करते हैं. हमारी तरफ से मामले की जांच जारी है.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश

Tags: Anandiben Patel, CM Yogi, Lucknow news, Lucknow Police, University education, UP news, UP Police उत्तर प्रदेश, Yogi government



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here