Mathura: योगी सरकार करा रही इस मकबरे का जीर्णोद्धार, जानिए कौन थीं ताज बीबी और रसखान

0
10


रिपोर्ट: चंदन सैनी

मथुरा: उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रीकृष्ण जन्मभूमि को राज्य में एक प्रमुख तीर्थ पर्यटन स्थल के रूप में बनाने पर ध्यान दिया है. इसी के चलते गुमनामी के अंधेरों में कहीं खो से चुके ब्रज के धार्मिक तीर्थ स्थलों को यूपी सरकार जीवंत करने में लगी हुई है. इसके लिए तीर्थ स्थलों के जीर्णोद्धार को सबसे अधिक प्राथमिकताएं दी जा रही हैं. वैसे तो काशी और अयोध्या की ही तरह मथुरा में भी पग-पग पर तीर्थ स्थल पाए जाते हैं. जिनका जीर्णोद्धार किया जा रहा है. लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं.

भगवान श्री कृष्ण के दो ऐसे अनन्य भक्तों के बारे में जो मुस्लिम समुदाय से होते हुए भी भगवान श्रीकृष्ण के अनन्य भक्त थे. एक तो थीं, ताज बीबी जबकी दूसके थे रसखान या सैयद इब्राहिम खान. भगवान श्री कृष्ण के इन दोनों ही मुस्लिम भक्तों के समाधि स्थल काफी पुराने और खंडहर में तब्दील हो रहे थे. साथ ही स्थानीय अधिकारियों की माने तो यहां नशा करने वाले और छोटे अपराधियों के लिए यह एक आश्रय स्थल बन गया था. ओल्डेस्ट इन स्थानों पर अतिक्रमण भी कर लिया गया था.

जानिए कौन थीं ताज बीबी और रसखान?
ताज बीबी को मुगल की मीराबाई के नाम से भी जाना जाता है. यह एक मुस्लिम रईस की बेटी थीं. जिसे मुगल काल में मुगलों ने यमुनापार क्षेत्र स्थित गोकुल की रक्षा के लिए नियुक्त किया था. बताया जाता है कि, ताज बीबी मुगल काल के दौरान कविता लिखा करती थीं. ताज बीवी ने कलमा कुरान का पाठ छोड़कर भगवान श्री कृष्ण की भक्ति में लीन थीं. तो वहीं यमुना किनारे स्थित गोकुल के रमनरेती आश्रम के समीप कुछ भूले-बिसरे मकबरे बने हुए हैं. जो मुस्लिम समुदाय से होते हुए भी भगवान श्रीकृष्ण के अनन्य भक्त थे. कहां जाता है रसखान या सैयद इब्राहिम खान 16वीं सदी के सूफी मुस्लिम कभी हुआ करते थे. जिनका जन्म उत्तर प्रदेश के अमरोहा यह हरदोई में हुआ था. इन्होंने भगवान श्री कृष्ण की भक्ति में लीन होकर अपना जीवन वृंदावन में बिताया था.

10 करोड़ की लागत से हुआ जीर्णोद्धार
ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उप मुख्य कार्यकारी अधिकारी पंकज वर्मा ने NEWS 18 LOCAL से बात करते हुए बताया कि, इस स्थान के जीर्णोद्धार में लगभग 10 करोड़ की लागत लगी है. ताज बीबी और रसखान समाधि का जीर्णोद्धार होने के बाद यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. वैसे तो उत्तर प्रदेश तीर्थ विकास परिषद द्वारा मथुरा-वृंदावन क्षेत्र में विकसित होने वाले कई स्थान हैं. लेकिन जब सीएम योगी को मकबरा परिसर का प्रस्ताव भेजा गया. तो सीएम योगी ने तुरंत धनराशि जारी कर दी.

आपको बता दें कि ब्रज तीर्थ विकास परिषद द्वारा परिसर में एक ओपन थिएटर फिल्म केंद्र और एक फूड कोर्ट बनाया गया है. यहां बने इस ओपन थिएटर में करीब 500 लोग एक साथ बैठ सकते हैं. इस ओपन थिएटर में रसखान और ताज बीबी के जीवन और कार्यों पर शो आयोजित किए जाते हैं.

इस परिसर में प्रतिदिन लगभग 2000-3000 टूरिस्ट आते हैं.

Tags: Bjp government, CM Yogi, Lord krishna, Mathura news, Yogi government



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here