Meerut के दो सगे भाइयों ने 35 हजार में बना दी ई-बाइक ‘तेजस’, 7 घंटे की चार्जिंग में चलती है 150 किमी

0
19


हाइलाइट्स

मेरठ के आशीष और अंकित ने ई-बाइक तैयार कर दी है
ई-बाइक का एवरेज भी एक बार चार्ज होने पर डेढ़ सौ किलोमीटर का है

मेरठ. आप लड़ाकू विमान तेजस के बारे में जानते होंगे. तेजस को भारत के वैज्ञानिकों ने विकसित किया. ये एक सीट एक जेट इंजन और अनेक भूमिकाओं को निभाने में सक्षम एक हल्का युद्धक विमान है. लेकिन आज हम आपको मेरठ की सड़क पर फर्राटा भर रहे ऐसे तेजस के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे दो छात्रों ने तैयार कर दिया है. हम बात कर रहे हैं ऐसी ई-बाइक की जिसे नाम दिया गया है ‘तेजस’.

इस ‘तेजस’ को आप पहली नज़र में देखेंगे तो लगेगा ये बच्चों की साइकिल है. छोटे-छोटे पहिए. सीट की जगह पाइप का इस्तेमाल. साइकिल की तरह हैंडल. बीचों बीच मिरर, शॉकर और चार्जिंग बैटरी आदि को जोड़कर मेरठ के आशीष और अंकित ने ई-बाइक तैयार कर दी है. आशीष और अंकित बताते हैं कि इस ई-बाइक का एवरेज भी एक बार चार्ज होने पर डेढ़ सौ किलोमीटर का है. आशीष जब इस ई-बाइक को लेकर मेरठ के कमिश्नरी चौराहे पर आए तो सेल्फी और फोटो खींचने वालों की कतार लग गई. बिल्कुल  अलग सी दिखने वाली इस ई-बाइक को देखकर लोग हैरान रह गए. आशीष ने बताया कि उन्होंने अपनी इस खोज का नाम तेजस दिया है. लेकिन लोग उनकी बाइक को रॉकेट और मिसाइल भी बोलते हैं. बाइक की स्पीड 60-65 किलोमीटर की है. और इसे अलग-अलग पुर्ज़ों से मिलाकर बनाने में पैंतीस हज़ार का खर्च आया है.

बुलेट नहीं मिली तो बना डाली खुद की बाइक
16 साल के अक्षय और 21 साल के आशीष ने अनोखी ई-बाइक बना डाली है. दोनों सगे भाइयों ने बताया कि उन्होंने अपने पिता से बुलेट दिलाने की मांग की थी, तो उनके पिता ने मना कर दिया. कुछ दिनों बाद इऩ दोनों सगे भाईयों ने अपनी ही बैटरी वाली बाइक बना डाली. अक्षय पॉलिटेक्निक के छात्र हैं और आशीष एम.ए की पढ़ाई कर रहे हैं. आशीष बताते हैं कि सारा टेक्निकल काम उनके छोटे भाई अक्षय ने देखा है. वहीं आशीष ने मोटरसाइकिल बनाने के लिए अलग-अलग जगह से मोटरसाइकिल के पार्ट्स को इकट्ठा किया. इस बाइक में इतने फीचर्स है कि शायद ही सामान्य बाइक में हों.

ये फीचर्स हैं मौजूद
बाइक के फीचर्स की बात करें तो मात्र 7 घंटे में इसकी बैटरी चार्ज हो जाती है. 7 घंटे की चार्जिंग के बाद यह बाइक 150 किलोमीटर तक सफर तय कर सकती है. इतना ही नहीं इस बाइक में बैक गियर भी लगता है. पीवीसी का पाइप इस बाइक पर लगाया गया है, और ये बाइक 3 लोगों का वजन उठा सकती है. बाइक में 24 एंपियर और 60 किलोवाट वोल्टेज की बैटरी लगाई गई है. बाइक में स्पीड कम ज्यादा करने के लिए भी एक बटन दिया गया है, जिससे बाइक की स्पीड कम ज्यादा हो सकती है. आशीष बताते हैं कि अगर डिमांड आएगी तो हम इस मोटरसाइकिल को और बेहतर बना सकते हैं. इसमें जो सामान का इस्तेमाल किया गया है वो और बेहतर लगाया जा सकता है. बेहतर टायरों का इस्तेमाल किया जा सकता है. ई-बाइक तेजस आजकल मेरठ में चर्चा का विषय बनी हुई है. इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है.

Tags: Meerut news, UP latest news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here