Mukhtar Ansari News: सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी की पत्नी की याचिका पर 9 अप्रैल को सुनवाई, याचिका में कहा- कहीं विकास दुबे की तरह मुठभेड़ में न मार दे यूपी पुलिस

0
131


मुख्तार अंसारी की पत्नी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट आगामी 9 अप्रैल को करेगा सुनवाई. (File Photo)

Mukhtar Ansari News: बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी अफशां अंसारी ने अदालत से पति की जान की सुरक्षा और यूपी में निष्पक्ष मुकदमा चलाने का निर्देश देने का किया अनुरोध. बसपा नेता को बांदा जेल में शिफ्ट करने का सुप्रीम कोर्ट ने दिया है आदेश.

नई दिल्ली. उच्चतम न्यायालय बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की पत्नी की उस याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा, जिसमें उन्होंने उत्तर प्रदेश की सरकार को राज्य में उसके पति की ‘सुरक्षा’ सुनिश्चित करने और उसके खिलाफ निष्पक्ष रूप से मुकदमा चलाने का निर्देश देने का अनुरोध किया है. न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति आर सुभाष रेड्डी की पीठ अफशां अंसारी की याचिका पर 9 अप्रैल को सुनवाई करेगी. याचिका में आरोप लगाया गया है कि उत्तर प्रदेश में मुख्तार अंसारी की जान को गंभीर खतरा है. अंसारी की पत्नी ने अपनी याचिका में यूपी के गैंगस्टर विकास दुबे को मुठभेड़ में मार गिराए जाने का भी जिक्र किया है. आपको बता दें कि यूपी पुलिस ने पिछले साल गैंगस्टर विकास दुबे को उस वक्त मुठभेड़ में मार गिराने का दावा किया था, जब उसे मध्य प्रदेश के उज्जैन से यूपी लाया जा रहा था.

उत्तर प्रदेश पुलिस को उच्चतम न्यायालय के निर्देश पर मंगलवार को ही पंजाब पुलिस से अंसारी की हिरासत मिली है. मुख्तार अंसारी पर उत्तर प्रदेश में कई जघन्य आपराधिक वारदात को अंसाम देने का आरोप है. उच्चतम न्यायालय में दायर याचिका में आरोप लगाया गया है कि उत्तर प्रदेश में अंसारी की जान को ‘गंभीर खतरा’ है. अगर न्यायालय उसकी सुरक्षा के लिए कदम उठाने का निर्देश नहीं देगा तो अंसारी की हत्या होने की ‘प्रबल आशंका’ है.

याचिका में कहा- पहले भी हो चुके हैं हमले

आगे पढ़ें

पंजाब से यूपी लाते समय भी मिले सुरक्षा

अफशां अंसारी की ओर से दायर याचिका में अनुरोध किया गया है कि पंजाब से बांदा जिला जेल में स्थानांतरण के दौरान, मुख्तार अंसारी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए न्यायालय उत्तर प्रदेश के अधिकारियों को निर्देश दे. उन्होंने अधिकारियों को अंसारी को जेल में सुरक्षा देने तथा उत्तर प्रदेश में अदालतों में पेश करने के दौरान भी सुरक्षा देने का निर्देश देने का आग्रह किया.

पंजाब से यूपी लाते समय भी मिले सुरक्षा

आगे पढ़ें

कहीं विकास दुबे की तरह न हो सलूक

याचिका में अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश देने का अनुरोध किया कि गया है कि अंसारी सुरक्षित रहे और उत्तर प्रदेश में उसके खिलाफ दर्ज सभी मामलों में सुनवाई के लिए पेश होते समय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत उसके अधिकार सुरक्षित रहें. याचिका में उत्तर प्रदेश में पिछले साल गैंगस्टर विकास दुबे को मुठभेड़ में मार गिराए जाने का भी जिक्र किया गया है. (इनपुट- भाषा से भी)

कहीं विकास दुबे की तरह न हो सलूक

आगे पढ़ें

<!–

–>
<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here