Munger corruption in mnrega exposed a beneficiary was given only a fraction of sanctioned amount nodmk8

0
29


मुंगेर. बिहार के मुंगर (Munger) में मनरेगा योजनाओं में भ्रष्टाचार (Corruption) का खुलासा हुआ है. धांधली का पता तब चला जब बरियारपुर का एक लाभुक सोमवार को जिलाधिकारी के कार्यालय (DM Office) पहुंचा और उसने डीएम नवीन कुमार को मनरेगा (MNREGA) योजना से पशु शेड निर्माण की बकाया राशि मांगने के लिए आवेदन सौंपा.

मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को जिलाधिकारी (डीएम) नवीन कुमार ने बरियारपुर प्रखंड के अस्पताल टोला का भ्रमण किया था. इस दौरान ओम प्रकाश यादव नामक व्यक्ति ने बातचीत में डीएम को बताया कि यहां मनरेगा में एक पति-पत्नी लोगों को परेशान कर रहे हैं. इस पर डीएम ने कहा कि आप कल (सोमवार) समाहरणालय पहुंच कर मुझे इस बारे में आवेदन दें. उचित कार्रवाई की जायेगी. उन्होंने ओम प्रकाश को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने देने का आश्वासन दिया. जिसके बाद सोमवार को ओम प्रकाश यादव ने डीएम नवीन कुमार के कार्यालय पहुंच उन्हें आवेदन दिया. इसमें उसने कहा कि बरियारपुर दक्षिणी पंचायत की रोजगार सेवक भारती देवी और उसके पति सुजीत कुमार के माध्यम से मैंने पशु शेड का निर्माण करवाया था. इसके लिए 42 हजार रुपये का भुगतान मेरे खाते में नहीं कर कैश पेमेंट की गई. जबकि सुजीत कुमार द्वारा मुझे योजना की शेष राशि नहीं दी गई. जबकि पशु शेड का निर्माण पर एक लाख 67 हजार रूपया देने की बात कही थी.

जिलाधिकारी ने DDC को जांच करवा कर कार्रवाई का दिया आदेश

इस पर जिलाधिकारी ने आवेदन को तत्काल उप विकास आयुक्त (डीडीसी) संजय कुमार को भेजा. उन्होंने डीडीसी को आदेश दिया कि पूरे मामले की जांच करें और कार्रवाई सुनिश्चित करें. अब यह डीडीसी पर निर्भर करता है कि वो अपनी जांच किस प्रकार करते हैं. क्योंकि मनरेगा में पूर्व के जांचों पर हमेशा से सवाल उठता आया है.

वहीं, डीएम नवीन कुमार ने बताया कि दिन में भीड़ रहती है जिससे अक्सर लोग खुल कर अपनी बात नहीं रख पाते हैं. इसलिए पब्लिक से फीडबैक लेने के लिए वो रात में गांव के दौरे पर जाते हैं. रविवार की रात को बरियारपुर अस्पताल टोला पहुंचे थे जहां ओम प्रकाश यादव ने पशु शेड निर्माण होने के बावजूद राशि नहीं मिलने की शकायत की थी. उन्होंने बताया था कि पीआरएस महिला और उसके पति ने पशु निर्माण शेड की राशि रख ली है. बोलने पर कहा जाता है कि उपर से नीचे तक पैसा यह हो गया. इसलिए पैसा नहीं दे सकता. उन्होंने बताया कि मेरे कहने पर ओम प्रकाश यादव ने हिम्मत जुटाते हुए आवेदन दिया है. इस मामले में कार्रवाई की जाएगी और लाभुक को शेष राशि मिलेगी. डीडीसी को जांच की जिम्मेदारी दी गयी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here