Murder in Kangra for a gun younger brother killed elder in gaggal hpvk

0
7


(सांकेतिक फोटो)

Murder in Kangra: फ़िलहाल, पुलिस ने उस टोपीदार बंदूक को ज़ब्त करते हुये इस पूरे मामले पर कड़ा संज्ञान लिया है और विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करते हुये आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

धर्मशाला. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा (Kangra) जिले के गग्गल पुलिस स्टेशन के तहत, हैरत में डाल देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक बाप की लाइसेंसी टोपीदार बंदूक ही दो अधेड़ भाइयों के बीच में कलह का कारण बन गई और अंततः उसी लाइसेंसी टोपीदार बंदूक (Gun) ने उसी जगह जाना मुनासिब समझा जहां से उसे कुछ दिन पहले बड़े भाई ने लाकर अपने छोटे भाई के सपुर्द कर दिया था.

छोटे भाई ने बड़े को मारी गोली

गग्गल के केटलू निवासी 50 साल के पवन कुमार पर अपने बड़े भाई 55 वर्षीय रूमी राम को टोपीदार बंदूक से मौत की घाट उतारने का आरोप लगा. दरअसल, ये पूरा वाकया यूं तो गाली-गलौज से जुड़ा हुआ है, मगर इस पूरे वाकये के पीछे जो हैरतअंगेज कहानी बताई जा रही है, वो बेहद ही चोंकाने वाली है. दरअसल, इसी पंचायत के एक जनप्रतिनिधि ने बताया कि इन भाइयों के पास इनके पिता की दी हुई लाइसेंसी टोपीदार बंदूक थी. इसका बंटवारे के दौरान दोनों ही भाइयों में आपसी रजामंदी नहीं बन पाई.

छोटे भाई पर नहीं था भरोसादरअसल बड़े भाई रूमी राम को अपने छोटे भाई पवन कुमार पर इस बंदूक को सम्भालने की लियाकत नज़र नहीं आई. रूमी राम ने अपने छोटे भाई के गुसैल रवैये और शराब की लत का हमेशा डर था कि अगर ये बंदूक इसके हाथ लग गई तो ये कभी भी कोई भी अनहोनी कर सकता है, इसलिए रूमी राम ने इस बंदूक को ख़ुद के पास रखते हुये, इसे जरूरत के मुताबिक दोबारा वापस लेने की एवज़ में पुलिस स्टेशन के हवाले सुरक्षित रख दिया. छोटे भाई पवन को ये बात नागवार गुजरी और उसने अपने बड़े भाई के साथ इसी बात को लेकर बोलचाल भी बन्द कर दी, मगर जब बड़े भाई के किसी शुभ कारज में छोटे भाई की इन्वॉल्वमेन्ट पर रूमी राम ने पवन कुमार को समझाने की कोशिश की तो वो महज एक बात पर माना कि उसे वो बंदूक चाहिये, रूमी राम ने छोटे भाई की जिद के आगे हारते हुये उसे अपने पिता की वो बंदूक पुलिस स्टेशन से लाकर छोटे भाई के हवाले कर दी,

जिसका डर था वही हुआ

नतीज़तन बड़े भाई को जिस बात का डर और भान था, होनी ने उसी हक़ीक़त का बीती रात को समाज के साथ राबता भी कायम करवा दिया. सोमवार रात को जब अधिक गर्मी होने के चलते रूमी राम अपनी पत्नी के साथ बाहर आंगन में बैठा था तो पवन कुमार शराब के नशे में धुत्त होकर गाली गलौज कर रहा था. रूमी राम ने उसे इस बात पर डांटते हुये चुप हो जाने को कहा, मगर नशे में धुत्त पवन कुमार पर ये आरोप लग रहा है कि उसने बड़े भाई की डांट को इतना ज़्यादा दिल पर ले लिया कि उसने उसी टोपीदार बंदूक से अपने बड़े भाई को गोलियों से छलनी कर दिया और टोपी के कुछ छर्रे उसकी पत्नी को भी जा लगे. हालांकि, इस हादसे में गनीमत ये रही कि रूमी राम की पत्नी का तो टांडा मेडिकल कॉलेज में उपचार के दौरान बचाव हो गया, मगर रूमी राम ने दम तोड़ दिया, फ़िलहाल, पुलिस ने उस टोपीदार बंदूक को ज़ब्त करते हुये इस पूरे मामले पर कड़ा संज्ञान लिया है और विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करते हुये आरोपी को  गिरफ्तार कर लिया है.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here