Muzaffarnagar : ‘तब बैल को पटक देता था! अब भी योग करता हूं’, 106 साल के ‘जवान’ से जानें हेल्दी लाइफ के राज

0
10


रिपोर्ट – अनमोल कुमार

मुज़फ्फरनगर. शहर में एक बुजुर्ग ऐसे हैं, जिनकी उम्र लगभग 106 साल हो चुकी है पर कमाल की बात यह है कि वह आज भी एकदम तंदुरुस्त दिखाई देते हैं. चौधरी अतर सिंह दहिया गांव जड़ौदा के रहने वाले हैं और किसान परिवार से हैं. अतर सिंह ने अपने योग व खानपान और दृढ़ इच्छाशक्ति से पैरालाइसिस, अल्सर जैसी बड़ी-बड़ी बीमारियों को भी मात दी है. इन्होंने कोरोना को भी मात दी. अतर सिंह ढाई सौ बीघा ज़मीन के मालिक भी हैं और समाजसेवा के लिए जाने जाते हैं.

बताया जाता है अतर सिंह पक्के आर्य समाजी रहे हैं. बचपन से ही समाज सेवा के स्वभाव के चलते इनके बारे में लोग बताते हैं कि गरीब मज़दूरों की मेहनत का पैसा मज़दूरों का पसीना सूखने से पहले ही दे देते थे. News18 लोकल अतर सिंह से बात करने पहुंची, तो उन्होंने कई किस्से सुनाए. उन्होंने बताया पुराने ज़माने में सभी लोग सेहत का ज्यादा ध्यान रखते थे. उन्होंने अपनी सेहत के कुछ राज़ भी हमारे साथ शेयर किए.

अतर सिंह ने कहा ‘मैंने शुरू से ही अपनी सेहत का ध्यान रखा. बचपन से ही देसी खाने पर विश्वास रखा. बचपन में खूब कसरत की ताकि कोई बीमारी न हो. मैं हमेशा गुड़, छाछ, दूध, दही, देसी घी, चूरमा, मक्के की रोटी, चने का साग और हरी सब्ज़ियां खाया करता था. खाना खाने के बाद दूर तक टहलने भी जाता था ताकि हाज़मा ठीक रहे.’

‘अब घी नहीं पचता, सब्ज़ियां खाता हूं’

अतर सिंह बताते हैं 106 साल की उम्र में भी वह देसी खाने से ही अपनी खुराक पूरी करते हैं. ‘आज भी मैं लौकी, गाजर, तोरी, करेला, मूली जैसी सब्ज़ियों का सेवन करता हूं. अब ज्यादा उम्र होने के कारण दूध, घी, गुड़, मक्खन नहीं पचता इसलिए सब्ज़ियां ही ज्यादा से ज्यादा खाता हूं.’ अतर सिंह पुरानी यादों में खोते हुए बताते हैं कैसे वह जवानी में कोल्हू के बैल को अपनी ताकत से पटक दिया करते थे, जिसे देखकर गांव वाले भी हैरान रह जाते थे. वह आज भी योग व ध्यान नियमित रूप से करने की बात बताते हैं.

अतर सिंह ने अपने कुनबे के बारे में बताया कि उनकी 10 संतानें हैं. 5 लड़के और 5 लड़कियां. उनके बेटों के नाम श्रद्धा पाल सिंह, कृष्ण पाल सिंह, जसवीर सिंह, कर्मवीर सिंह व देवेंद्र दहिया हैं. अतर सिंह के 15 पौते, पौतियां और 10 पड़पोते व पड़पोतियां हैं. अतर सिंह के मुताबिक पूरे गांव में उनके इस बड़े कुनबे को दहिया परिवार के नाम से जाना जाता है.

Tags: Healthy Diet, Muzaffarnagar news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here