Noida में अवैध रूप से रह रहे 15 चीनी नागरिकों को डिटेंशन सेंटर दिल्ली भेजा

0
55


नोएडा. जून में अवैध रूप से नेपाल (Nepal) के रास्ते भारत से भागते हुए तीन चीनी नागरिकों (Chinese citizens) को हिरासत में लिया गया था. वीजा खत्म होने के बाद भी यह नोएडा (Noida) में अवैध रूप से रह रहे थे. इसके बाद से लगातार हुई छापेमारी के बाद चीनी नागरिक पकड़े जा रहे हैं. हाल ही में तीन और चीनी नागरिकों को हिरासत में लिया गया है. एक साल पहले इनका वीजा (Visa) खत्म हो गया था. बावजूद इसके यह नोएडा में रहे भी रहे थे और एक कंपनी में नौकरी भी कर रहे थे. एक महिला समेत अभी तक 15 चीनी नागरिकों को हिरासत में लिया जा चुका है. अब इन्हें दिल्ली (Delhi) स्थित डिटेंशन सेंटर (Detention Center) में भेजा जा रहा है, वहां से इन्हें वापस चीन भेज दिया जाएगा.

नोएडा के इन सेक्टर में रह रहे थे चीनी नागरिक

जून में तीन चीनी नागरिकों के पकड़े जाने के बाद से नोएडा में लोकल इंटेलिजेंस यूनिट (एलआईयू) की टीम को अलर्ट कर दिया गया था. गौरतलब रहे नेपाल बार्डर के रास्ते भारत से चीन भागते वक्त 11 जून को जासूसी के शक में चीनी नागरिक लू लैंग और यू हेलंग को गिरफ्तार किया गया था. इस घटना के बाद ही नोएडा में चाइनीज क्लब की मैनेजर असम निवासी एलन समेत पांच आरोपियों को और एसटीएफ गिरफ्तार किया था.

बाद में रिमांड पर लेकर की गई पूछताछ में लू लैंग और यू हेलंग की निशानदेही पर एसटीएफ ने नोएडा से कुछ सामान और कागजात बरामद किए थे. अभी जिन तीन चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है उसमे  रायन उर्फ रेन चाओ निवासी हेइलोंगजियांग. इसका वीजा 31 अगस्त 2020 खत्म हो गया था. जेंग हाओझे निवासी गुआंडोंज प्रांत का वीजा 8 मार्च 2020 को खत्म हो गया था.

Twin Tower Blast के दौरान आने-जाने को इन रास्तों का कर सकते हैं इस्तेमाल

वहीं एक दिन पहले सोमवार को एलआईयू ने एक ऑपरेशन के तहत बीटा-दो कोतवाली क्षेत्र से दो, सेक्टर-113 कोतवाली क्षेत्र से तीन, सेक्टर-49 कोतवाली क्षेत्र से एक, फेज दो कोतवाली क्षेत्र से छह और सेक्टर-142 कोतवाली क्षेत्र से तीन चीन के नागरिकों को हिरासत में लिया है. हिरासत में लिए गए सभी चीनी नागरिकों का वीजा एक साल पहले खत्म हो चुका है.

हिरासत में लिए गए सभी आरोपी नोएडा और ग्रेटर नोएडा की अलग-अलग कंपनियों में काम कर रहे थे. हिरासत में लिए गए चीनी नागरिकों में चेन युंगंग, लियू किदा, ली पेंगजुआन, यू योंगफैन, लियू हे, कुई जिंगजेन, वांग जुनरांग, हौंग झुक्सिंग, देंग जियाक्वान, लियू बिंगबियाओ, लियू जियांगबो, झांग लिआंग, वू कांग, जिओ फेई और जियांगगुओ शामिल है.

दो आरोपी चीन से ऐसे पहुंचे थे भारत

जानकारी में सामने आया है कि जून में नेपाल बॉर्डर से पकड़े गए दोनों आरोपी चीनी नागरिक 23 मई को थाईलैंड पहुंचे थे. और फिर वहां से काठमांडू आ गए थे. एक दिन काठमांडू में रुकने के बाद 24 मई को कोरा से साइकिल पर भारतीय इलाके में घुस गए. बिहार से फिर इन्होंने एक टैक्सी किराए पर ली और सीधे नोएडा आ गए. आरोपियों का कहना है कि नोएडा में उनका एक दोस्त कैरी जेपी ग्रींस में रहता है. 15 दिन तक अपने इसी दोस्त के यहां रुके रहे. कुछ दिन इधर-उधर भी घूमते रहे. उसके बाद 10 जून को फिर से बिहार और नेपाल के रास्ते होते हुए चीन जाने के लिए रवाना हो गए. लेकिन भारत-नेपाल बॉर्डर क्रॉस करने की कोशिश में एसएसबी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

Tags: China, Delhi news, Noida Crime News, Noida Police



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here