Noida में 12 जगह वाहनों के लिए एक ही स्टेशन पर मिलेगा सभी तरह का ईंधन, जानें प्लान

0
49


नोएडा. कार में सीएनजी (CNG) भरवानी है तो अलग फ्यूल स्टेशन पर जाओ, पीएनजी या डीजल-पेट्रोल (Diesel-Petrol) लेना है तो दूसरे स्टेशन पर जाओ. इतना ही नहीं, अब तो अगर कार-बाइक चार्ज करानी है तो उसके लिए किसी चार्जिंग स्टेशन (Charging Station) पर अलग से लाइन होगी. लेकिन नोएडा में 12 जगहों पर अब सभी तरह का ईंधन एक ही फ्यूल स्टेशन पर मिलेगा. नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने इस प्रस्ताव पर बोर्ड बैठक में मुहर लगा दी है. शहर के 12 अलग-अलग सेक्टर में यह स्टेशन खोले जाएंगे. गौरतलब रहे यमुना अथॉरिटी भी यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) पर इसी तरह के फ्यूल स्टेशन खोलने जा रही है.

शहर में यहां खुलेंगे फ्यूल स्टेशन

नोएडा अथॉरिटी ने बोर्ड बैठक में प्रस्ताव पर मुहर लगाते हुए बताया कि शहर की आबादी लगातार बढ़ रही है. लोगों को फ्यूल स्टेशन की जरूरत भी पड़ रही है. इतना ही नहीं अगर एक ही स्टेशन पर उन्हें सभी तरह का ईंधन मिल जाए तो उनके समय की बचत भी होगी. इसी को ध्यान में रखते हुए नोएडा के सेक्टर-47, सेक्टर-50, सेक्टर-69, सेक्टर-72, सेक्टर-105, सेक्टर-108, सेक्टर-122, सेक्टर-137, सेक्टर-143बी, सेक्टर-155, सेक्टर-159 और सेक्टर-168 में फ्यूल स्टेशन खोलने की मंजूरी दी गई है. इतना ही नहीं सभी स्टेशन पर मिनी कैफेटएरिया और वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र भी खोलने की मंजूरी दी जाएगी. स्टेशन के लिए जमीन बोली लगवाकर आवंटित की जाएगी.

देश में पहली बार बन रहे हैं खास फ्यूल स्टेशन

यमुना अथॉरिटी से जुड़े अधिकारियों की मानें तो देश में पहली बार ऐसे फ्यूल स्टेशन बनाने की तैयारी चल रही है जहां पेट्रोल-डीजल, सीएनजी-पीएनजी और इलेक्ट्रिक वाहनों को चार्ज करने के लिए चार्जिंग पाइंट भी होंगे. अभी तक देश के किसी भी हिस्से में ऐसे फ्यूल स्टेशन नहीं हैं जहां इस तरह की सभी सुविधाएं हों. यमुना एक्सप्रेसवे पर से बड़ी संख्या में चारों दिशाओं के वाहन गुजरते हैं. इतना ही नहीं आने वाले वक्त में यमुना एक्सप्रेसवे पेरिफेरल एक्सप्रेसवे, दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेसवे और गंगा एक्सप्रेसवे से जुड़ने जा रहा है. जेवर एयरपोर्ट से भी जोड़ा जाएगा. जिसके चलते सभी तरह के वाहनों का लोड बढ़ेगा और ईंधन की डिमांड भी बढ़ेगी.

नोएडा में 20 से 30 फीसद तक महंगी हो गई जमीन, आसान नहीं होगा घर-दुकान खरीदना

यमुना अथॉरिटी इसलिए बनवा रही खास फ्यूल स्टेशन

बीते साल दिल्ली-एनसीआर में वाहनों में इस्तेमाल होने वाले ईंधन को लेकर एक सर्वे हुआ था. सर्वे के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर में इलेक्ट्रिक वाहनों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है. आंकड़े के मुताबिक लोग प्रदूषण को लेकर अलर्ट हो रहे हैं. गौतम बुद्ध नगर में भी इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढ़ी है. इलेक्ट्रिक वाहनों को लेकर दिल्ली-एनसीआर में सर्वे करने वाली एक कंपनी ने यह खुलासा किया था.

साथ ही कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यमुना एक्सप्रेस वे पर 10 चार्जिंग स्टेशन की जरूरत बताई थी. कंपनी का कहना है कि सर्वे में सामने आया है कि दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले लोग दूसरे शहरों की यात्रा बहुत करते हैं, इसलिए वो एक नई ई-कार खरीदते वक्त दिल्ली-एनसीआर के रास्ते में और दूसरे शहरों में उसके ईधन की उपलब्धता के बारे में पहले सोचते हैं.

Tags: CNG, Noida Authority, Yamuna Expressway



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here