Noida Twin Tower Demolition: ट्विन टॉवर को गिराने से पहले लगाई गई स्पेशल डस्ट मशीनें, जानें असल वजह

0
42


नोएडा. सुपरटेक की जुड़वा टॉवर के ध्‍वस्‍तीकरण की उल्‍टी गिनती शुरू हो चुकी है. सुपरटेक ट्विन टावर्स को गिराने से पहले खास इंतजाम किए गए हैं, इस बीच प्रदूषण लेवल को मापने के लिए स्पेशल डस्ट मशीनें लगाई गई है. वहीं हर स्तर पर निगरानी के लिए अधिकारी और ध्वस्तीकरण करने वाली कंपनी के अधिकारी पूरी योजना के तहत काम कर रहे हैं. ध्वस्तीकरण के बाद होने वाले प्रदूषण की निगरानी के लिए अधिकारियों ने खास तरह की मशीनें लगाई हैं. इनसे प्रदूषण के स्तर को जांचा जाएगा. वहीं मलबे और डस्ट को काबू करने लिए अलग-अलग स्थानों पर फॉग गन भी लगाई गई हैं.

पॉल्यूशन बोर्ड के क्षेत्राधिकारी प्रवीण कुमार ने दावा किया कि 24 घंटे पॉल्यूशन मॉनिटर किया जाएगा. इसके लिए 6 पॉल्यूशन मॉनिटरिंग मशीन लगा दी गई हैं. टॉवर ध्वस्त होने के बाद करीब 30 मिनट तक धूल को जमीनी सतह पर बैठने में वक्त लगेगा.

इसके लिए एंटी स्मॉग गन लगाई गई हैं. वॉटर स्प्रिंकिंग, मैनुअल स्वीपिंग, एंटी स्मॉग गन से धूल को कंट्रोल किया जाए। करीब 200 लोगों का स्टाफ पॉल्यूशन कंट्रोल के लिए तैनात किया गया है.

दोपहर 2: 30 बजे होगा विस्फोट
नोएडा में भ्रष्टाचार से बने ट्विन टॉवर आज जमींदोज हो जाएंगे. बरसों से खड़ी ये गगनचुंबी इमारत दोपहर बाद मलबे के ढेर में तब्दील हो जाएगी. इसके लिए दोनों टॉवर सियान और एपेक्स को इलेक्ट्रिक डोनेटर से दोपहर 12:30 पर आपस में कनेक्ट कर दिया जाएगा. इससे एक ही बटन दबाकर 2:30 बजे दोनों टॉवरों को विस्फोट से उड़ा दिया जाएगा. यह जानकारी टॉवर को ध्वंस करने वाली कंपनी के इंजीनियर मयूर मेहता ने न्यूज 18 को दी.

Tags: NCR Air Pollution, Noida news, Noida Police, Supertech twin tower, Supertech Twin Tower case, UP news



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here