On Boundi festival, women engaged in preparing traditional dish Gur Pitha in tribal homes, Tusu festival started with Boundy festival in the society. | बाउंडी उत्सव पर आदिवासी घरों में पारंपरिक व्यंजन गुड़ पीठा को बनाने में जुटीं महिलाएं, समाज में बाउंडी उत्सव के साथ टुसू पर्व का आगाज

0
26


  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • On Boundi Festival, Women Engaged In Preparing Traditional Dish Gur Pitha In Tribal Homes, Tusu Festival Started With Boundy Festival In The Society.

जमशेदपुर12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मकर संक्रांति पर्व शुक्रवार काे मनेगा। गुरुवार काे बाउंडी के साथ आदिवासी समाज में टुसू पर्व की शुरुआत हुई। गुरुवार की शाम आदिवासी-मूलवासियों के घरों में गुड़ पीठा बनाया। शुक्रवार की सुबह आदिवासी समाज के लोग मकर डूब (पवित्र स्नान) की डुबकी लगाएंगे। उसके बाद पकवान का लुत्फ उठाएंगे। लोग पूर्वजों व देवी-देवताओं की पूजा कर आशीर्वाद लेंगे।

गुरुवार को महिलाओं ने घरों में गुड़ पीठा तैयार किया। विधायक सविता महताे ने कहा- शुक्रवार काे माघ का पहला दिन यानी अखान हाेगा। नए साल की यात्रा का पहला दिन है। शुक्रवार की सुबह स्नान-दान के बाद नए वस्त्र पहन घर-लाेग मकर मनाएंगे। गुरुवार को वो अपने परिवार के साथ गुड़ पीठा बनाने में व्यस्त दिखी।

आखाइन जतरा से शुभ कार्यों की होगी शुरुआत
आदिवासी-मूलवासी 15 जनवरी को आखाइन जातरा मनाएंगे। पहला माघ को “आखाइन जातरा’ के रूप में मनाया जाता है। साल की शुरुआत मान इस दिन से सारे शुभ कार्य शुरू किए जाते हैं। इस दिन से ही खेत में पहला हल चलाकर खेती की शुरुआत की जाती है, जिसे “हालपुनहा’ कहते हैं। इस दिन वधु को भी देखने का चलन है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here