Opinion: इन कारणों से पीएम मोदी का कामकाज होता है बेहतर

0
17


समय के बारे में कहा जाता है कि वह सबसे मूल्यवान और बलवान होता है. इसके साथ ही साथ समय किसी भी व्यक्ति और उसके कामकाज का बेहतरीन मूल्यांकन करता है. समय की कसौटी में अगर हम पीएम नरेंद्र मोदी के कामकाज को देखिए तो प्रतिकूल 2021 के प्रतिकूल परिस्थितियों में भी उन्होंने भारत के विकास की गति को आगे बढ़ाया.

पीएम नरेंद्र मोदी 2021 के कामकाज का मूल्यांकन किया जाए तो इसमें सबसे महत्वपूर्ण होगा स्वदेशी निर्मित कोरोना वैक्सीन को आम लोगों तक पहुंचाना. वह भी ऐसी परिस्थिति में जिसका किसी को अनुभव नहीं था. इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी के साहसिक कदम द्वारा इस दौरान 80 करोड़ लोगों तक मुफ्त में अनाज पहुंचाना भी बहुत बड़ी उपलब्धि है.

दरअसल पीएम नरेंद्र मोदी की इन उपलब्धियों को हम उनके पिछले 20 साल के प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के तौर पर किए गए काम और अनुभव की पृष्ठभूमि में देख और समझ सकते हैं. पीएम नरेंद्र मोदी ने इस दौरान कई अनुभव हासिल किए और इसको अपने कामकाज में शामिल किया. इसमें उनका जन भागीदारी के माध्यम से कामकाज को आगे बढ़ाने की कला काफी महत्वपूर्ण है. कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भी उन्होंने जनभागीदारी सिद्धांत को अपनाया. हमें याद करना चाहिए कि जब पीएम नरेंद्र मोदी ने संपूर्ण लॉक डाउन का आह्वान किया सभी देशवासियों ने उनका साथ दिया. इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी ने जनभागीदारी के माध्यम से स्वच्छता अभियान को चलाया और इसमें काफी हद तक सफलता भी मिली. पीएम नरेंद्र मोदी के कार्यकलाप को देखे तो वे जल शक्ति के कार्यक्रम के साथ साथ कृषि महोत्सव को भी जनभागीदारी के साथ पूरा करते हैं.

इसके साथ-साथ पीएम नरेंद्र मोदी का किसी भी काम को पूरा करने की ज़िद उनके लक्ष्य निर्धारित को प्राप्त करने में सहायक होती है. इसके तहत हम स्वदेशी वैक्सीन विकसित करने से लेकर इसे आम लोगों तक पहुंचाने को देख सकते हैं. इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी के काम पूरा करने की ज़िद जिसे हम उनकी इच्छाशक्ति ही कर सकते हैं के तहत जन धन अकाउंट खोले जाने उज्जवला योजना के माध्यम से लोगों तक स्वच्छ इंधन पहुंचाने सुदूर गांव तक घर घर में बिजली पहुंचाने आदि को देख सकते हैं. काशी में बाबा विश्वनाथ मंदिर के आसपास सकरी गलियों को एक बड़े से कॉरिडोर में विकसित करना पीएम नरेंद्र मोदी की स्वप्नदृष्टता और इच्छाशक्ति का ही परिणाम है.

इसके साथ ही साथ पीएम नरेंद्र मोदी कामकाज में नई तकनीक और आधुनिकता को लाते हैं जिसके कारण पारदर्शिता और कामकाज में तेजी आती है. कृषि सम्मान निधि के माध्यम से किसानों तक बिना किसी रुकावट के पैसे का पहुंचना इसका एक उदाहरण मात्र है. पीएम नरेंद्र मोदी ने हमेशा भारतीय परंपरा और संस्कृति को बढ़ावा दिया जिसके कारण भारतीयों में भारतीयता के गौरव को बढ़ावा. इसी के कारण आज न सिर्फ योग बल्कि भारतीय जीवन पद्धति को भी दुनिया अपना रहे हैं. कोरना काल में पीएम नरेंद्र मोदी इसके भी ब्रांड एंबेसडर रहे हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल में सबका साथ सबका विकास की नीति को अपनाया. इसके तहत बिना किसी भेदभाव के 44 करोड़ों जन धन अकाउंट, 32 करोड़ मुद्रा लोन, 9 करोड़ उज्जवला गैस कनेक्शन , 5.5 करोड़ घरों तक नल का कनेक्शन पहुंचाना आदि को दिखा जा सकता है.

(डिस्क्लेमर: ये लेखक के निजी विचार हैं. लेख में दी गई किसी भी जानकारी की सत्यता/सटीकता के प्रति लेखक स्वयं जवाबदेह है. इसके लिए News18Hindi किसी भी तरह से उत्तरदायी नहीं है)

Tags: Narendra modi, PM Modi, Prime Minister Narendra Modi, Ujjwala scheme



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here