Oxygen संकट के बीच दिल्ली HC की सख्त टिप्पणी, कहा- बताएं कितने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कस्टम विभाग में अटके हैं

0
25


कोरोना के खिलाफ लड़ाई में योगदान देने के लिए भारत और बाहर के लोगों के लिए पोर्टल की शुरूआत की गई है.

Oxygen Crisis in Delhi: हाईकोर्ट (High Court) ने सोमवार को भी केंद्र सरकार से पूछा है कि कितने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर (Oxygen Concentrators) कस्टम विभाग में अटके हुए हैं? हाईकोर्ट ने सोमवार तीन बजे तक जवाब देने को कहा था, लेकिन अब मंगलवार को इस पर केंद्र सरकार जवाब दाखिल करेगी.

नई दिल्ली. दिल्ली में ऑक्सीजन (Oxygen Crisis in Delhi) को लेकर कोहराम मचा हुआ है. सुप्रीम कोर्ट, केंद्र सरकार, दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) और दिल्ली सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है. पिछले कई दिनों से ऑक्सीजन की किल्लत पर दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई हो रही है. हर रोज हाईकोर्ट सख्त रुख अख्तियार करती है, लेकिन जमीन पर स्थितियां जस की तस बनी हुई है. बीते कुछ दिनों ऑक्सीजन की कमी से दिल्ली में 40 से ज्यादा मरीजों की मौत हो गई है. हाईकोर्ट ने सोमवार को भी केंद्र सरकार से पूछा है कि कितने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर कस्टम विभाग में अटके हुए हैं? हाईकोर्ट ने सोमवार तीन बजे तक जवाब देने को कहा था, लेकिन अब मंगलवार को इस पर केंद्र सरकार जवाब दाखिल करेगी. हाईकोर्ट ने केंद्र से पूछा यह सवाल बता दें कि कोर्ट ने पहले ही कह दिया था कि कोरोना के विकराल रूप को देखते हुए कस्टम की प्रक्रिया को और सरल बनाया जाए, ताकि अस्पतालों और लोगों को जल्दी से जल्दी ऑक्सीजन मिले. इसके बावजूद कस्टम क्लीरेंस नहीं मिलने से कई ऑक्सीजन कंसंट्रेटर पिछले कई दिनों से कस्टम विभाग में परे हुए हैं. इस बीच दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को लिखी चिट्ठी लिखी है. दिल्ली के वित्त मंत्री ने कोरोना काल में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को जीएसटी से मुक्त करने की मांग की है. सिसोदिया ने कहा है कि अगले 6 महीने तक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर को जीएसटी से मुक्त रखा जाए.

oxygen crisis in delhi, Delhi government, delhi high court, highcourt, manish sisodiya, delhi news, covid -19, oxygen supply in delhi, custom duty, Coronavirus, COVID-19, Oxygen Concentrators, Delhi Government, Arvind Kejriwal, Delhi Fights Corona, Oxygen Plants, दिल्ली में ऑक्सीजन की किल्लत, ऑक्सीजन को लेकर हाईकोर्ट की सक्त टिप्पणी, दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार, कस्टम विभाग, दिल्ली न्यूज, डिप्टी सीएम, ऑक्सीजन की कमी, आईसीयू बेड, कोरोनावायरस, कोविड-19, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर, दिल्ली सरकार, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली फाइट्स कोरोना

कोर्ट ने पहले ही कह दिया था कि कोरोना के विकराल रूप को देखते हुए कस्टम की प्रक्रिया को और सरल बनाया जाए

रक्षा मंत्री से भी मदद मांग चुकी है दिल्ली सरकार सोमवार को ही दिल्ली में कोरोना संक्रमण से बिगड़े हालात के बीच डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मदद मांगी है. डिप्टी सीएम ने अपने पत्र में रक्षा मंत्री से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन, आईसीयू बेड और मेडिकल टीम की मदद देने की मांग की है. दिल्ली सरकार के वकील ने आज हाईकोर्ट में यह जानकारी दी.

Youtube Video

10 हजार ऑक्सीजन युक्त बेड और एक हजार आईसीयू बेड बनाने की मांग दिल्ली सरकार ने अदालत को बताया कि उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखी है और मदद मांगी है. उन्होंने रक्षा मंत्रालय से दिल्ली में 10000 ऑक्सीजन युक्त बेड और 1000 आईसीयू बेड बनाने में मदद मांगी है. साथ ही दुर्गापुर, कलिंगा नगर आदि प्लांटों से टैंकर से जरिए दिल्ली में ऑक्सीजन लाने में सहायता करने की मांग की है.

oxygen crisis in delhi, Delhi government, delhi high court, highcourt, manish sisodiya, delhi news, covid -19, oxygen supply in delhi, custom duty, Coronavirus, COVID-19, Oxygen Concentrators, Delhi Government, Arvind Kejriwal, Delhi Fights Corona, Oxygen Plants, दिल्ली में ऑक्सीजन की किल्लत, ऑक्सीजन को लेकर हाईकोर्ट की सक्त टिप्पणी, दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार, कस्टम विभाग, दिल्ली न्यूज, डिप्टी सीएम, ऑक्सीजन की कमी, आईसीयू बेड, कोरोनावायरस, कोविड-19, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर, दिल्ली सरकार, अरविंद केजरीवाल, दिल्ली फाइट्स कोरोना

दिल्ली को कल यानी रविवार को 440 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है. (सांकेतिक तस्वीर)

ये भी पढ़ें: मुस्लिम, मतुआ, महिला और ममता- बंगाल चुनाव में टीएमसी के शानदार प्रदर्शन के ये हैं अहम फैक्टर गौरतलब है कि दिल्ली को कल यानी रविवार को 440 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है, जबकि दिल्ली का कोटा 590 टन है. सिसोदिया ने कहा कि हमें प्रतिदिन 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है. क्योंकि दिल्ली में हम लगातार कोरोना संक्रमितों के लिए बेड्स की संख्या बढ़ा रहे हैं.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here