Oxygen leaks at McShift Hospital causing panic, 20 cylinders empty panso| नालागढ़ की मेकशिफ्ट अस्पताल में ऑक्सीजन लीक होने से मचा हड़कंप, 20 सिलेंडर हुये खाली

0
49


नालागढ़ की एक अस्पताल में कर्मचारियों की लापरवाही के कारण ऑक्सीजन गैस लीक हो गई. (सांकेतिक फोटो)

नालागढ़ (Nalagarh) की मेकशिफ्ट अस्पताल (Hospital) में ऑक्सीजन गैस लीक होने से 20 सिलेंडर खाली हो गये. इसके बाद ऑक्सीजन के दो जरूरतमंद मरीजों को दूसरी अस्पताल (Hospital) में रेफर किया गया.

सोलन.औद्योगिक कस्बे नालागढ़ (Nalagarh) स्थित नवनिर्मित मेकशिफ्ट अस्पताल (Hospital) में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई, जब अस्पताल में ऑक्सीजन लीक हो गई, इस लीकेज के कारण 20 से ज्यादा ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen cylinder) खाली हो गए. जिस वक्त यह वाक्या हुआ उस वक्त मेकशिफ्ट अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार दो मरीज भर्ती किए गए थे और उन्हें ऑक्सीजन देने की तैयारी चल रही थी, लेकिन ऑक्सीजन के रिसाव के कारण ऊपजे हालात के बीच दोनों मरीजों को तुरंत उपचार के लिए ईएसआई काठा शिफ्ट कर दिया गया.

हालांकि ऑक्सीजन के रिसाव के इस मामले से कोई हाहाकार की स्थिति नहीं बनी है, लेकिन इस घटना ने कोरोना सहित अन्य गंभीर बीमारियों से त्रस्त मरीजों के उपचार के लिए स्थापित मेकशिफ्ट अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों में कमी को जरूर उजागर कर दिया है. जानकारी के मुताबिक यह घटना बीते शुक्रवार की है. उस वक्त गंभीर रूप से बीमार दो रोगियों, जिनमें एक 29 वर्षीय पुरुष और एक 32 वर्षीय महिला को गंभीर अवस्था में नवनिर्मित मेक शिफ्ट अस्पताल में लाया गया था, लेकिन दोनों मरीज वहां ऑक्सीजन रिसाव के कारण भर्ती नहीं हो सके. जिसके बाद दोनों मरीजों को ईएसआई अस्पताल काठा में शिफ्ट करना पड़ा.

हमीरपुर: मां की अर्थी के ठीक बाद 32 साल के बेटे का उठा जनाजा, कोरोना ने ली दोनों की जान

मरीजों को सांस लेने में हो रही थी परेशानी

सांस लेने में समस्या का सामना कर रहे दोनों मरीजों को नालागढ़ अस्पताल के डॉक्टर बेहतर उपचार के लिए आईजीएमसी शिमला या एमएमयू में शिफ्ट करने की कोशिश में थे, लेकिन दोनों संस्थानों से मंजूरी न मिलने से उन्हें मेक शिफ्ट अस्पताल में रखना पड़ा, लेकिन वहां पाइपलाइन में रिसाव के कारण ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित हो गई. ऐसे में मरीजों को तुरंत काठा शिफट कर दिया गया क्योंकि अपेक्षित सुविधाओं के अभाव में उनकी हालत और बिगड़ सकती थी.

काठा में दोनों मरीजों को ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की सहायता प्रदान की गई है. बताया जा रहा है कि मेक शिफ्ट अस्पताल में ऑक्सीजन गैस की पाइपलाइन में कोई दिक्कत आने की वजह से रिसाव हो गया, जिस कारण बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन की कमी हो गई है, पाइप लाइन में किसी तकनीकी खामी के चलते हुए गैस रिसाव के कारण करीबन 40 सिलेंडरों में से 20 सिलेंडर खाली हो गए हैं.

मेक शिफ्ट अस्पताल को क्रियाशील करने के लिए चार डॉक्टरों की प्रतिनियुक्ति की गई है. इसके अलावा ताजा घटनाक्रम के बाद काठा बद्दी में भी एक एनस्थेटिस्ट की भी प्रतिनियुक्त कर दी गई है. बीएमओ नालागढ़ डॉ. केडी जस्सल ने बताया कि कुछ तकनीकी दिक्क्तों के कारण ऑक्सीजन की आपूर्ति में समस्या आई थी, जिसे ठीक किया जा रहा है. गंभीर रूप से बीमार दो मरीजों को मेक शिफ्ट अस्पताल से ईएसआईसी काठा में स्थानांतरित कर दिया गया है, जहां उन्हें ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की सहायता प्रदान की गई है. उन्होंने बताया कि लीकेज के कारण 20 सिलेंडर खाली हो गए है, जिन्हें एक दो दिन में रिफिल करवा दिया जाएगा.



<!–

–>

<!–

–>




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here